•  
  •  
  •  
  •  
  •  

नई दिल्ली। एसेन्शिल ऑयल कई तरह की सुंदरता संबंधी समस्याओं को दूर करने के लिए जाने जाते हैं, हालांकि इनका इस्तेमाल करते समय कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी हैं, इन्हें खरीदते समय थोड़ा सा लगा कर देख लें कि कहीं आपको किसी प्रकार की समस्या तो नहीं हो रही हैं, ऐसे तेलों को आंखों के पास भी नहीं लगाएं। सौंदर्य कंपनी ऑर्गेनिक हार्वेस्ट की सौंदर्य विशेषज्ञ व ट्रेंनिंग हेड सोनिया माथुर और सोलफ्लावर कंपनी के प्रबंध निदेशक अमित सारदा ने एसेन्शिल ऑयल के इस्तेमाल संबंधी ये सुझाव दिए हैं :

क्या करें :

* एसेन्शिल ऑयल को खरीदने से पहले पैच टेस्ट जरूर कर लें कि यह आपकी त्वचा के लिए उपयुक्त है या नहीं। इसे आप थोड़ा सा शरीर के किसी हिस्से पर लगाकर देख लें। कुछ लोगों की त्वचा संवेदनशील होती है, या तेज धूप के प्रति संवेदनशील होती हैं, इसलिए योग्य चिकित्सक की निगरानी में जांच करना आपके लिए उचित होगा।

* एसेन्शिल ऑयल को लगाने से पहले उसमें कोई भी ऑयल या हल्का तेल (कैरियर ऑयल) जैसे नारियल आदि मिला लें। एसेन्शिल ऑयल काफी गाढ़ा होते हैं, इसलिए बिना इसमें हल्का तेल मिलाए इसे लगाने से आपको खुजली, तव्चा में जलन, लाल दाने पड़ जाने जैसी समस्या हो सकती है। 10 मिलीमीटर बेस ऑयल में तीन-चार बूंदे ही एसेन्शिल ऑयल मिलाए। बादाम, जोजोबा, ग्रेप सीड और नरियल का तेल कैरियर ऑयल के तौर पर इस्तेमाल किए जा सकते हैं।

* एसेन्शिल ऑयल को ठंडे व अंधेरे जगह पर रखें और इसे सूरज की रोशनी से बचाकर रखें। अच्छे से रखे जाने पर इनकी गुणवत्ता बरकरार रहती हैं और ये कई सालों तक इस्तेमाल किए जा सकते हैं।

* एसेन्शिल ऑयल का उत्पादन कई कंपनियां करती है, ऐसे में सही कंपनी का शुद्ध और नैचुरल तेल ही खरीदें। गैर-कार्बनिक ब्रांड इनमें फिलर मिला सकते हैं, जो हानिकारक केमिकल युक्त होता है और इससे आपकी त्वचा को नुकसान पहुंच सकता है, इसलिए जांच-परख कर ही ये तेल खरीदें।

क्या न करें :

* एसेन्शिल ऑयल को शरीर के ऊपर ही लगाएं, इन्हें भोजन में इस्तेमाल नहीं करें और अगर आपको इनका सेवन करना है तो अपने चिकित्सक से परामर्श करने के बाद ही ऐसा करें।

* गर्भावस्था और शिशु को स्तनपान कराते समय एसेन्शिल ऑयल का इस्तेमाल करने से बचें। हर एसेन्शल ऑयल में कुछ खास गुण होता है और खास उद्देश्य से इस्तेमाल में लाया जाता है, इसलिए इन्हें खरीदने से पहले खासकर गर्भवती महिलाएं चिकित्सक से परामर्श जरूर कर लें। ऐसी महिलाओं को दालचीनी, लौंग, अदरक, चमेली, सेज, कैमोमाइल तेल के इस्तेमाल से बचना चाहिए।

* आंख के पास एसेन्शिल ऑयल नहीं लगाएं और कान में सीधे नहीं डालें। कुछ तेल आपके कॉन्टेक्ट लेंस को नुकसान पहुंचा सकते हैं, इसलिए एसेन्शिल ऑयल का इस्तेमाल करने के तुरंत बाद लेंस को नहीं छुए, क्योंकि इस तेल से आंखों में जलन महसूस हो सकती है।

* अगर आपकी त्वचा बेहद संवेदनशील है और पहले कभी आपको एसेन्शिल ऑयल के इस्तेमाल से त्वचा संबंधी समस्या हुई हो तो थोड़ा सा यह तेल लेकर अपनी त्वचा पर मल लें और 24 घंटे तक इंतजार करें, अगर तेल लगे हिस्से पर खुजली हो रही है, या लाल दाने, चकत्ते पड़ गए हो या जलन हो रही हैं तो फिर इसका इस्तेमाल नहीं करें, ऐसा करने से आपको पता चल जाएगा कि ये तेल आपके लिए उपयुक्त है या नहीं।