अब पासपोर्ट बनवाने के लिए नहीं जाना होगा 50 किमी से दूर

734
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

नई दिल्ली। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने पीओपीएसके के गठन की घोषणा करते हुए कहा है कि पासपोर्ट बनाने में सबसे बड़ी बाधा दूरी को केंद्र सरकार ने समाप्त कर दिया है।

देश में 149 नए डाकघर पासपोर्ट सेवा केंद्र (पीओपीएसके) बनाए जाएंगे। दिल्ली में भी तीन नए केंद्र बनेंगे। ये केंद्र कृष्णानगर,लोधी रोड,साकेत में खोले जाएंगे। वहीं, उत्तरप्रदेश के 19 जिलों में ऐसे केंद्र बनाने का प्रस्ताव है।

उन्होंने बताया कि नई सरकार में पासपोर्ट केंद्रों की संख्या 251 हो गई है,यह बहुत शुभ संख्या मानी जाती है। गौरतलब है कि पुराने केंद्रों को मिलाकर देश में 328 केंद्र हो जाएंगे।

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने बताया कि हर 50 किमी के भीतर केंद्रों का गठन होगा। इसके लिए डाक विभाग से सूची मंगाकर उसकी मैपिंग कराने को कहा गया है। 810 डाकघरों की सूची दी गई है।

अलीगढ़, अमेठी, आजमगढ़, बहराइच, बलिया, बलरामपुर, बाराबंकी, बस्ती, गोंडा, जौनपुर, कुशीनगर, मऊ, सीतापुर, मुरादाबाद, प्रतापगढ़, रायबरेली, रामपुर, सहारानपुर में नए डाकघर पासपोर्ट सेवा केंद्र बनाने का फैसला किया गया है।

उत्तराखंड में तीन, झारखंड में तीन बिहार के नौ जिले में नए केंद्र खोले जाएंगे। राजस्थान, तमिलनाडु और महाराष्ट्र के 11 – 11 जिलों में नए केंद्र खोले जाएंगे। मध्यप्रदेश और असम में नौ-नौ केंद्र खुलेंगे।