दरअसल अखिलेश सरकार में पांच साल में कुल 1300 करोड़ से ज्यादा की धनराशि कब्रिस्तान की चारदीवारी बनवाने के नाम पर खर्च कर दी गई। बड़े पैमाने पर अनियमितता के साक्ष्य मिलने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जांच बैठा दी है।

बीते विधानसभा चुनाव के दौरान कब्रिस्तान का मुद्दा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चुनावी रैलियों में उठा चुके हैं। जिसके बाद श्मसान बनाम कब्रिस्तान का मुद्दा पूरे चुनाव भर गरमाया था। तभी से अटकलें लग रहीं थीं कि भाजपा सरकार आने पर अल्पसंख्यक तुष्टीकरण के लिए अखिलेश सरकार द्वारा खर्च की गई 1300 करोड़ की धनराशि की जांच हो सकती है। यही हुआ भी। अब जाकर कब्रिस्तानों की चारदीवारी पर जांच बैठा दी गई है।

आगे:  वीडियो में देखिए इस मुद्दे पर पीएम मोदी ने पहले ही कहा था कुछ ऐसा

Prev2 of 3Next