नई दिल्ली। एनडीए के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद के नाम पर बहुजन समाज पार्टी (बसपा) ने सकारात्मक रुख अख्तियार किया है। बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि रामनाथ कोविंद चूंकि दलित हैं, लिहाजा पार्टी की उनके नाम को लेकर सकारात्मक सोच है।

हालांकि उन्होंने कहा कि अगर विपक्ष कोई लोकप्रिय दलित का नाम इस पद के लिए लाता है तो वे उस पर भी विचार करेंगी। पत्रकारों से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा कि बेहतर होता अगर एनडीए ने किसी गैर-राजनैतिक दलित चेहरे को अपना राष्ट्रपति उम्मीदवार बनाती।

उन्‍होंने रामनाथ कोविंद को समर्थन देने की बात पर कोई ठोस जवाब नहीं दिया। लेकिन उनके जवाब से साफ लग रहा था कि मायावती के पास भी इस उम्मीदवारी का कोई तोड़ नहीं है। वह लगातार दलितों पर केंद्रित राजनीति करती रही है और भाजपा के इस कदम ने उनके कुछ भी कहने पर विराम लगा दिया है। मीडिया की तरफ से पूछे गए सवाल के जवाब में उन्‍होंने कहा कि हमारी पार्टी कोविंद की उम्‍मीदवारी का विरोध नहीं करती, न ही अभी हम उनका समर्थन कर रहे हैं। विपक्ष काबिल उम्‍मीदवार नहीं उतारता तो हमारा समर्थन कोविंद को रहेगा।

आगे लोगों ने क्यों कहा मायावती दलितों की राजनीति करना अब छोड़ दें 

Prev1 of 5Next