एक ईंट रखना नहीं, पूरा राम मंदिर ही बनाना हैः अमित शाह

Avatar Written by: November 23, 2018 9:45 pm

नई दिल्ली। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने जी न्यूज के साथ अपने साक्षात्कार में कई मुद्दों पर खुलकर बात की। अमित शाह ने इस साक्षात्कार में पांच राज्यों में हो रहे विधानसभा चुनाव में पार्टी की स्थिति पर जहां सवालों का जवाब दिया वहीं उन्होंने राम मंदिर निर्माण के लिए पार्टी की लाइन पर भी सवालों का खुलकर जवाब दिया।Amit Shah Sudhir Choudhary

इस साक्षात्कार में अमित शाह अयोध्‍या ने राम मंदिर निर्माण को लेकर कहा कि ‘हम राम मंदिर के लिए सिर्फ एक ईंट नहीं रखना चाहते, बल्कि हमें पूरा मंदिर ही बनाना है।’ दरअसल, मंदिर निर्माण के लिए अध्‍यादेश लाए जाने और इस मसले से जुड़े कई सवालों पर भाजपा अध्‍यक्ष ने यह टिप्‍पणी की। भाजपा अध्‍यक्ष ने कहा, ‘राम मंदिर के लिए एक ईंट नहीं रखनी, बल्कि पूरा मंदिर ही बनाना है। अदालत इस मुद्दे पर विचार कर रही है उस मैटर पर इस प्रकार की जल्‍दबाजी करना अभी उचित नहीं है। हम जनता की संवेदनाओं को भी समझ रहे हैं और उन्‍हें जवाब भी दे रहे हैं।’Amit Shah

जी न्यूज के एडिटर सुधीर चौधरी से एक्‍सक्‍लूसिव बातचीत में अमित शाह ने कहा कि ‘हम राजस्‍थान में सरकार बनाने जा रहे हैं। ये बात मैं बहुत भरोसे के साथ कह सकता हूं। यहां पर केंद्र और राज्‍य सरकार ने मिलकर बहुत अच्‍छा काम कि‍या है।’ महागठबंधन के सवाल पर जवाब देते हुए शाह ने कहा, आप लिखकर रख लीजि‍ए पश्‍च‍िम बंगाल में हम 2019 में 23 सीटें जीतेंगे।

जम्मू एंड कश्मीर में सरकार बनाने के सवाल पर कहा, वहां पर राज्‍यपाल ने जो कि‍या, वह सही है। हमारी तोड़फोड़ की कोई मंशा नहीं थी। महागठबंधन को लेकर चल रही अटकलों पर कहा, पिछले चुनावों में हमसे हारने वाले लोग महागठबंधन बनाने की बात कर रहे हैं। जो भी छत्रप हैं, वह सिर्फ अपने राज्‍यों में मजबूत हैं, बाहर उनका कोई जनाधार नहीं है। अमित शाह ने कहा, महागठबंधन को हम फि‍र से हराएंगे। उन्‍होंने कहा, 1+1+1 हमेशा 11 नहीं होते।

राफेल डील पर उठ रहे तूफान पर अमित शाह ने कहा, ‘इस डील में एक भी कौड़ी ज्यादा नहीं दी गई है। अगर कांग्रेस के पास कोई सबूत है तो इससे पहले वह सुप्रीम कोर्ट क्यों नहीं गए।’

अमित शाह ने कहा, हम चुनाव विकास के मुद्दे पर जीतते हैं। गुजरात, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ इस बात के उदाहरण हैं। इसलिए यह कहना गलता होगा कि विकास पर चुनाव नहीं जीते जा सकते।

सीबीआई को लेकर पूछे गए सवाल पर शाह ने कहा कि ‘सीबीआई को लेकर कोई डर नहीं था। दो अफसरों ने एक दूसरे पर आरोप लगाए थे। जब तक जांच होगी, ऐसे में जरूरी था कि दोनों जांच तक छुट्टी पर भेजा गया। जब आलोक वर्मा पर एफआईआर हुई। तब तक सुप्रीम कोर्ट में राफेल पर याचिका दाखिल हो चुकी थी, ऐसे में राहुल गांधी का ये कहना कि आलोक वर्मा इस मामले में कोई FIR दर्ज करने वाले थे, ये पूरी तरह गलत है।’

BJP President Amit Shah

इसके बाद नोटबंदी और जीएसटी पर बोलते हुए शाह ने कहा कि दोनों बड़े कदम थे। जीएसटी 2 साल बाद बड़ा बदलाव लाएगा।

Support Newsroompost
Support Newsroompost