‘संपर्क फॉर समर्थन’ अभियान के तहत सुर सम्राज्ञी लता मंगेशकर से मिले शाह

Written by: July 23, 2018 8:28 pm

मुंबई। भारतीय जनता पार्टी ने 2019 लोकसभा चुनाव से पहले अपना जनसंपर्क अभियान तेज कर दिया है। ‘संपर्क फॉर समर्थन’ अभियान के तहत पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने रविवार को मुंबई में सुर सम्राज्ञी लता मंगेशकर के घर जाकर उनसे मुलाकात की। अमित शाह ने उन्हें मोदी सरकार की 4 साल की उपलब्धियां गिनवाईं।Lata mangeshkar & Amit Shah Devendra Fadanvis इस अभियान के तहत भाजपा अध्यक्ष ने लोकसभा चुनाव से पहले पार्टी के लिए उनका समर्थन मांगा है। इस दौरान उनके साथ महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और कुछ अन्य नेता भी मौजूद थे। चुनावों में समर्थन के लिए पार्टी अध्यक्ष जानी-मानि हस्तियों से मुलाकात कर रहे हैं।Lata mangeshkar & Amit Shah Devendra Fadanvis

उनसे मुलाकात करने के बाद मशहूर गायिक लता मंगेशकर ने एक ट्वीट भी किया।

उन्होंने लिखा, ‘आज हमारे लिए बड़ी खुशी का दिन था। बीजेपी के माननीय अध्यक्ष अमित शाह जी और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री माननीय देवेंद्र फडणवीस जी और कुछ वरिष्ठ नेता हमारे घर पधारे थे। सबसे मिलके और बातें करके बहुत अच्छा लगा।’Lata mangeshkar & Amit Shah Devendra Fadanvis

संपर्क से समर्थन अभियान की शुरुआत 29 मई से हुई थी। इसका उद्देश्य जाने माने लोगों तक पार्टी की पहुंच बनाना है। अभियान के तहत अमित शाह ने सबसे पहले गुरुग्राम में थलसेना के पूर्व प्रमुख दलबीर सिंह सुहाग से मुलाकात की।

इस अभियान में पार्टी अध्यक्ष के अलावा मोदी सरकार के मंत्री और राज्यों के मुख्यमंत्री भी मशहूर हस्तियों से मुलाकात कर रहे हैं।Lata mangeshkar & Amit Shah Devendra Fadanvis

अमित शाह सरकार की उपलब्धियों को बताने के लिए इस पहल के तहत 50 लोगों से मिलेंगे। जबकि अन्य भाजपा कार्यकर्ता उपलब्धियों के बारे में बताने और जागरुक करने के लिए कम से कम 10 लोगों से मिलेंगे।Lata mangeshkar & Amit Shah Devendra Fadanvis

इससे भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष अमित शाह ने पार्टी कार्यकर्ताओं से आगामी लोकसभा के चुनाव में महाराष्ट्र में अकेले चुनाव लड़ने की तैयारी करने का आह्वान किया है।Lata mangeshkar & Amit Shah Devendra Fadanvis

शाह ने रविवार को मुंबई में पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ बैठक की और वर्ष 2019 में होने वाले लोकसभा के चुनाव के संबंध में चर्चा की और कार्यकर्ताओं को तैयार रहने की सलाह दी। अमित शाह ने सलाह दी है कि स्थानीय कार्यकर्ता नये मतदाताओं से मिलें। उन्होंने कहा कि पिछले लोकसभा के चुनाव में महाराष्ट्र में भाजपा और शिव सेना ने मिल कर चुनाव लड़ा था लेकिन कुछ माह बाद विधानसभा का चुनाव हुआ था जिसमें दोनों ही पार्टियों ने अलग-अलग चुनाव लड़ा था और भाजपा पहली बार महाराष्ट्र में सबसे बड़ी पार्टी बनी थी।