बजट सत्र के 23 दिन बर्बाद होने पर लिया बड़ा एक्शन !

Written by: April 5, 2018 8:15 am

नई दिल्ली। बजट सत्र का दूसरा सत्र हंगामे की भेंट चढ़ गया। ऐसे में सत्ताधारी एनडीए के सांसद मौजूदा संसद सत्र में कामकाज न होने वाले 23 दिनों का वेतन नहीं लेंगे। उनके इस कदम ने विरोधी दलों को उलझन में डाल दिया है। मालूम हो कि कांग्रेस और अन्य विपक्षी दलों के विरोध के कारण बजट सत्र के दूसरे चरण में अब तक कोई कामकाज नहीं हुआ है।parliament

Courtesy-Google

केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार ने कहा कि 23 दिनों तक कामकाज न होने की वजह से भाजपा और एनडीए के सांसदों मे सैलरी नहीं लेने का फैसला किया है। जनप्रतिनिधियों को जो सैलरी मिलती है वो लोगों की सेवा के बदले में होती है। लेकिन जब सदन में कामकाज न हो रहा हो तो सैलरी लेनी किसी भी रूप में नैतिक नहीं है।

Anant Kumar,BJP

Courtesy-Google

अनंत कुमार ने कहा कि कांग्रेस की गैरलोकतांत्रिक राजनीति की वजह से लोकसभा और राज्यसभा में काम नहीं हो सका। सदन के अंदर एनडीए सरकार सभी मुद्दों पर बातचीत करने के लिए तैयार है। लेकिन विपक्ष की दिलचस्पी विवादित मुद्दों को उठाने की थी।

Lok sabha

Courtesy-Google

बता दें कि संसद के बजट सत्र का दूसरा हिस्सा शुक्रवार को खत्म हो रहा है और आंध्र प्रदेश की पार्टियों समेत दूसरे कई अन्य मुद्दों को लेकर पिछले दिनों संसद हर दिन ठप रही और लगभग कोई कामकाज नहीं हो सका। हालत यह हुई कि सरकार को वित्त विधेयक भी आनन-फानन में बिना किसी बहस के ही पास कराना पड़ा।