भाजपा अपने स्थापना दिवस पर करने जा रही है कुछ ऐसा जिससे उड़ जाएंगे विरोधियों के होश !

Written by: April 4, 2018 8:57 pm

मुंबई। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) आगामी लोकसभा चुनाव के लिए अपने अभियान की शुरुआत शुक्रवार को पार्टी के 38वें स्थापना दिवस पर अपनी ताकत की झलक दिखाकर करेगी। पार्टी के एक शीर्ष पदाधिकारी ने बुधवार को इस बात की जानकारी दी।

narendra modi

Courtesy- PTI

इस मौके पर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, केंद्रीय नौवहन मंत्री नितिन गडकरी, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस, राज्य भाजपा इकाई के अध्यक्ष रावसाहेब दानवे पाटील और अन्य शीर्ष पदाधिकारी मौजूद रहेंगे, जो पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे।

Courtesy- Twitter

दानवे पाटील ने कहा, “इस विशाल सम्मेलन में महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, बिहार, कर्नाटक और तमिलनाडु के तीन लाख से ज्यादा कार्यकर्ता, जिसमें बूथ स्तर से लेकर संसद सदस्य, शामिल होंगे।”

Courtesy- PTI

उनसे यह पूछने पर कि क्या यह सम्मेलन अगले संसदीय चुनाव के लिए अभियान की शुरुआत का सूचक है? उन्होंने कहा, “हां, आप ऐसा कह सकते हैं।”

Courtesy- Facebook

शाह यहां गुरुवार को पहुंचेंगे और पार्टी की कोर समिति के शीर्ष नेताओं से मुलाकात करेंगे। वह शुक्रवार को बांद्रा-कुर्ला परिसर मैदान में पार्टी कार्यकर्ताओं की रैली को संबोधित करेंगे। उन्होंने कहा, “हम चाहते हैं कि बूथ स्तर के कार्यकर्ता यहां आएं। वे जमीनी स्तर के लोग हैं। उन्हें पार्टी का विराट स्वरूप देखना चाहिए।”

Narendra Modi

Courtesy- PTI

उन्होंने हालांकि यह स्पष्ट कर दिया है कि यह भाजपा का आंतरिक सम्मेलन है और इसमें किसी अन्य पार्टी के नेता को आमंत्रित नहीं किया गया है।

Courtesy- Google

फिलहाल 80 हजार बूथ प्रमुख, 26 शाखा व इकाई पदाधिकारी, पांच हजार ग्राम सरपंच, 97 बड़े और छोटे नगर निकायों के सदस्य, सभी सांसद, विधायक, जिला और उप जिला अध्यक्ष यहां पहुंचने लगे हैं।

Courtesy- PTI

महाराष्ट्र और अन्य राज्यों से 50 हजार से ज्यादा बसों व वाहनों से और 28 विशेष रेलगाड़ियों से कार्यकर्ता बीकेसी मैदान पहुंचेंगे। सभी को लाने का काम मुंबई पार्टी अध्यक्ष आशीष शेलार द्वारा किया जाएगा।

PM Narendra Modi

Courtesy- Twitter

बीकेसी मैदान में तीन विशाल मंच, सम्मेलन के लिए सात शामियाने और रात में कार्यकर्ताओं के रुकने के लिए दो अन्य शामियानों की विस्तृत व्यवस्था की गई है। इसी तरह के समान जश्न की तैयारी भारत के अलग-अलग राज्यों और सभी जिलों में की गई है।