मोदी सरकार के खिलाफ संसद में अविश्वास प्रस्ताव के 3 नोटिस, लोकसभा और राज्यसभा कल तक के लिए स्थगित

Written by: March 19, 2018 11:40 am

नई दिल्ली। आंध्रप्रदेश की सबसे बड़ी हितैषी बनने को बेकरार वाईएसआर कांग्रेस और तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) के सांसद बजट सत्र के अंतिम दिन संसद की सदस्यता से इस्तीफा दे सकते हैं ऐसा सूत्रों के हवाले से खबर आ रही है। विशेष पैकेज या विशेष राज्य का दर्जा देने के सवाल पर आमने सामने आए दोनों प्रतिद्वंद्वी दलों ने बीते शुक्रवार को एक ही दिन लोकसभा में मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव का नोटिस दिया था।

इस मुद्दे पर वाईएसआर कांग्रेस के सांसदों द्वारा इस्तीफे की भनक लगने के बाद टीडीपी ने भी इसी राह चलने का फैसला कर लिया है। गौरतलब है कि दोनों दलों ने सोमवार को एक बार फिर से मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव का नोटिस दिया।

हंगामे के बीच सदन की कार्रवाई कल तक के लिए स्थगित

लोकसभा की कार्रवाई 12 बजे के बाद फिर से शुरू, हंगामा जारी

हल्ले-हंगामे के बाद राज्यसभा की कार्यवाही कल तक के लिए स्थगित हंगामा कर रहे नेताओं से राज्यसभा के सभापति ने कहा देश हंस रहा है, सदन को चलने दीजिए, नहीं तो संसद मजाक का विषय बन जाएगी।

वेंकैया नायडू ने कहा कि विपक्ष और सरकार दोनों सदन को चलाना चाहते हैं फिर क्या दिक्कत है। उन्होंने कहा कि यह देशहित में नहीं है और आसन सभी मुद्दों पर चर्चा के लिए तैयार है।

टीडीपी और एआईएडीएमके सांसदों ने वेल में आकर शुरू की नारेबाजी

TDP president and chief minister chandrababu naidu

हंगामे के बाद लोकसभा की कार्यवाही 12 बजे तक स्थगित

कांग्रेस ने दोनों दलों के अविश्वास प्रस्ताव का समर्थन किया है

शिवसेना सांसद अरविंद सावंत ने अविश्वास प्रस्ताव के मुद्दे पर कहा है कि हम सरकार और विपक्ष दोनों का ही समर्थन नहीं करेंगे।

अविश्वास प्रस्ताव लाने से पहले लोकसभा 12 बजे तक के लिए स्थगित हो गई है। वहीं राज्यसभा को पूरे दिन के लिए स्थगित कर दिया गया है।

संसदीय मामलों के मंत्री अनंत कुमार ने कहा कि हम अविश्वास प्रस्ताव का सामना करने के लिए तैयार हैं। हमें खुद पर पूरा भरोसा है।

संसद सचिवालय को अविश्वास प्रस्ताव के 3 नोटिस मिले हैं। 2 नोटिस टीडीपी से और 1 वाईएसआरसीपी से मिला है।

टीडीपी एमपी थोटा नरसिम्हा ने कहा कि हम अविश्वास प्रस्ताव लाएंगे। हमने विपक्षी पार्टियों टीएमसी, कांग्रेस और समाजवादी पार्टी से बातचीत कर ली है। वाईएसआरसीपी केवल राजनीति कर रही है। उन्हें राज्य की चिंता नहीं है।

शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि हम देखेंगे कि स्पीकर अविश्वास प्रस्ताव को स्वीकार करते हैं या खारिज कर देते हैं। टीडीपी का मामला अपने राज्य के लिए है और हम इसका स्वागत करते हैं। हालांकि अभी तक हमने अविश्वास प्रस्ताव के बारे में विचार नहीं किया है। इस मामले को उद्धव संभालेंगे।