हरियाणा: रेवाड़ी के एसपी का तबादला, गैंगरेप मामले में हुई पहली गिरफ्तारी

Avatar Written by: September 16, 2018 8:04 pm

चंडीगढ़। बोर्ड टॉपर के साथ सामूहिक दुष्कर्म में शामिल अपराधियों की गिरफ्तारी में विफल रहने की वजह से हरियाणा सरकार ने रविवार को रेवाड़ी के पुलिस अधीक्षक (एसपी) का तबादला कर दिया और उनकी जगह पर नए अधिकारी की तैनाती की। राजेश दुग्गल की जगह राहुल शर्मा को रेवाड़ी का नया एसपी तैनात किया गया है।haryana-gangrape

पुलिस ने महेंद्रगढ़ जिले में सामूहिक रूप से दुष्कर्म के मामले में ट्यूबवेल के कमरे के मालिक दीनदयाल को गिरफ्तार किया है। इसी कमरे में छात्रा से दुष्कर्म किया गया था। पुलिस ने कहा कि दीनदयाल ने आरोपियों को कमरे की चाबी दी थी, जहां उन्होंने 12 सितम्बर को यह अपराध किया। पुलिस ने एक स्थानीय चिकित्सक को हिरासत में लिया है, जिसे आरोपियों ने बुधवार (12 सितम्बर) को दुष्कर्म के बाद पीड़िता की हालत बिगड़ने पर बुलाया था। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि चिकित्सक ने पीड़िता का प्राथमिक उपचार किया था। उसे आरोपियों ने धमकी दी थी। उसने पीड़िता के साथ दुष्कर्म की बात जानने के बाद भी पुलिस को इसकी जानकारी नहीं दी।

आरोपियों की तलाश में हरियाणा, राजस्थान, दिल्ली और कई अन्य राज्यों में कई स्थानों पर छापे मारे जा रहे हैं। मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा है कि सभी आरोपी जल्द ही चंगुल में होंगे। इस भयावह अपराध के चार दिनों एक आरोपी की गिरफ्तारी हुई है। एक सीनियर अधिकारी ने बताया कि आरोपियों को पकड़ने के लिए कई टीमों का गठन किया गया है और उम्मीद है कि बाकी आरोपी जल्द ही गिरफ्त में आ जाएंगे। डीसी ने कहा कि लड़की का इलाज रेवाड़ी में होगा। लड़की के माता-पिता रेवाड़ी में इलाज कराने को लेकर सहमत हो गए हैं।Manohar lal Khattar

वहीं पीड़िता की मां ने आरोपियों को फांसी पर लटका देने की मांग करते हुए जिला प्रशासन द्वारा शनिवार को उनको दिए गए 2 लाख रुपए का चेक वापस करने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा, हमें इस चेक की जरूरत नहीं है। क्या यह कीमत उनकी बेटी की इज्जत के लिए रखी जा रही है? हमें बस न्याय चाहिए। हमने कानून के लंबे हाथों के बारे में सुना है लेकिन पुलिस क्या कर रही है? आरोपियों को अभी तक पकड़ा नहीं गया है।’Gang Rape woman

हरियाणा पुलिस सामूहिक दुष्कर्म के मामले में लापरवाही बरतने के लिए आलोचना का सामना कर रही है। हरियाणा पुलिस ने शुरू में अधिकार क्षेत्र का हवाला दिया था, जिससे आरोपियों की गिरफ्तारी का व साक्ष्यों को जमा करने का महत्वपूर्ण समय बर्बाद हो गया।gangrape

पुलिस आरोपियों के संबंधियों, दोस्तों व गांववालों से आरोपियों के ठिकाने के बारे में पूछताछ कर रही है। करीब 100 लोगों से पूछताछ की गई है। विशेष जांच दल (एसआईटी) की प्रमुख नाजनीन भसीन ने मीडिया से रेवाड़ी में कहा कि चिकित्सकीय जांच में लड़की से दुष्कर्म की पुष्टि हुई है। उन्होंने कहा कि आरोपी के बारे में सूचना देने वाले व्यक्ति को एक लाख रुपये का इनाम मिलेगा।gangrape

आरोपियों में एक पंकज नाम का सैनिक और दो युवक मनीष व निशू शामिल हैं। सभी कनीना गांव के रहने वाले हैं। कनीना, चंडीगढ़ से दूरी 320 किमी है। राज्य के पुलिस महानिदेशक बी.एस.संधू का दावा है कि आरोपियों के गिरफ्तार किया जाएगा, इसके बावजूद पुलिस ऐसा करने में अभी तक विफल रही है। पीड़िता व उसके माता-पिता पहले कह चुके हैं ने कहा था कि पुलिस मामले में कार्रवाई नहीं कर रही है और इसमें लापरवाही बरत रही है। पीड़िता अपने साथ दुष्कर्म करने वाले आरोपियों को पहचानती है। परिवार ने आरोप लगाया कि कई अन्य लोग सामूहिक दुष्कर्म में शामिल हो सकते हैं। आरोपी भी पीड़िता के गांव के रहने वाले हैं और वह उन्हें जानती है। आरोपियों ने कथित तौर पर कनीना बस स्टैंड से पीड़िता का अपहरण किया, जब वह कोचिंग क्लास जा रही थी।gang-rape

पीड़िता ने कहा कि उन्होंने उसे पीने का पानी दिया, जिसमें कुछ नशीला पदार्थ मिला था। इसके बाद आरोपियों ने खेत से लगे कमरे में उसके साथ दुष्कर्म किया। बाद में इनमें से एक आरोपी मनीष ने गांव के पास के एक बस स्टॉप पर उसे फेंक दिया और पीड़िता के पिता को फोन कर उसे बस स्टॉप से ले जाने को कहा। पीड़िता कॉलेज में सेकेंड इयर की छात्रा है। उसने बोर्ड परीक्षा में टॉप किया था और उसे सरकार द्वारा सम्मानित किया गया था।