बच्ची के साथ रेप करने पर दोषी को होगी फांसी, कैबिनेट में आज आ सकता है अध्यादेश

Written by: April 21, 2018 9:28 am

नई दिल्ली। देश में बच्चियों के साथ बढ़ती रेप की घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिए केंद्र सरकार अब दोषियों के खिलाफ मौत की सजा दिलाने के लिए सरकार अध्यादेश लेकर आ सकती है।Kathua Murder Case

सरकार 12 साल तक की लड़कियों के साथ रेप करने वालों के लिये पॉक्सो एक्ट में बदलाव कर फांसी की सजा का प्रावधान कर सकती है। सरकार ने शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट को भी इस बारे में सूचित किया है। कानून में बदलाव को लेकर आज एक अध्यादेश को मंजूरी मिल सकती है।

Modi cabinet

सूत्रों के मुताबिक सरकार उत्तर प्रदेश के उन्नाव और जम्मू-कश्मीर के कठुआ में नाबालिग से रेप के बाद देश में भड़के गुस्से के चलते सरकार यह अध्यादेश ला रही है, ताकि प्रोटेक्शन आफ चिल्ड्रेन फ्रॉम सेक्सुअल आफेंस एक्ट (पॉक्सो) में बदलाव किया जा सके।

Kathua Rape Case, Jammu and Kashmir

वर्तमान में पॉक्सो कानून के तहत गंभीर मामलों में आजीवन कारावास तक की सजा का प्रवधान है। इसमें न्यूनतम सजा सात साल की है। इससे पहले दिसंबर, 2012 में हुए निर्भया केस के बाद आपराधिक कानून में बदलाव किए गए थे। इसमें महिला की मृत्यु या मरणासन्न अवस्था में पहुंचने पर ही फांसी का प्रावधान था।

narendra modi

क्या था मामला

कठुआ में एक 8 साल की बच्ची के साथ रेप किया गया और उसके बाद उसकी हत्या कर दी गई थी। इसी तरह की एक घटना सूरत में भी हुई जिसमें 9 साल की एक बच्ची को क्रिकेट के मैदान में पाया गया और उसके निजी अंगों समेत पूरे शरीर पर 80 से ज्यादा चोट के निशान थे। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ कि इस बच्ची के साथ भी रेप हुआ था और उसके आठ दिन बाद उसकी हत्या कर दी गई।