गुजरात के सीएम विजय रुपाणी पहुंचे लखनऊ, कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सड़क पर काटा बवाल (वीडियो)

Written by: October 14, 2018 9:48 pm

नई दिल्ली। गुजरात से लगातार उत्तर भारतीयों का पलायन जारी है। उत्तर भारतीयों के साथ लगातार गुजरात से मारपीट और धमकाने की खबरें सामने आ रही है। इस मामले को लेकर यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने विजय रुपाणी से बात की थी। इस मामले में गुजरात पुलिस की तरफ से सैकड़ों लोगों को हिरासत में लिया गया है।

vijay rupani
गुजरात के सीएम विजय रुपाणी पहुंचे लखनऊ

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी उत्तर भारतीयों से राज्य में वापिस लौटने की गुहार लगा चुके हैं वहीं इस मुद्दे को लेकर सियासत गर्म है। इस सब के बीच आज विजय रुपाणी शाम को उत्तर प्रदेश की राजधानी लकनऊ पहुंचे। रुपाणी का यह दौरा पहले से प्रस्तावित था।Congress Protest Against Vijay Rupani Visit

राजधानी लखनऊ पहुंचे विजय रुपाणी का विरोध करने कांग्रेस के कार्यकर्ता और नेता सड़क पर उतर आए। जहां से रुपाणी की सवारी गुजर रही थी उस रास्ते पर कांग्रेस के लोगों ने जमकर बवाल काटा। पुलिस ने इस मामले में कांग्रेस के कई कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया है।

सीएम योगी से मिलने और एक कार्यक्रम में शामिल होने रुपाणी लखनऊ पहुंचे हैं। ऐसे में गुजरात में उत्तर भारतीयों के साथ हो रहे हिंसा को लेकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने दौरे का विरोध किया। विजय रुपाणी को कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने काले झंडे भी दिखाए। इसके बाद पुलिस ने प्रदर्शन कर रहे कई कांग्रेसी कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया।GOA Congress

कांग्रेस के उत्तर प्रदेश प्रवक्ता अशोक सिंह ने कहा कि इस विरोध के स्वरूप कांग्रेस के हजारों कार्यकर्ताओं के साथ पुलिस ने अमानवीय व्यवहार किया और सैकड़ों कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया गया है। अशोक सिंह ने आगे कहा कि इसके बाद भी रुपाणी के खिलाफ उनका प्रदर्शन जारी रहेगा।

वहीं लखनऊ में जारी विरोध प्रदर्शन के बाद भी गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सरकारी आवास पर उनसे शिष्टाचार भेंट की। जहां यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने स्मृति चिन्ह, अंग वस्त्र व कुम्भ का लोगो भेंट कर उनका स्वागत किया।

आखिर लखनऊ क्यों पधारे विजय रुपाणी

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी 14 अक्टूबर को लखनऊ पहुंचे। इस दौरान उनके साथ 14 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल भी मौजूद है। खबरों के मुताबिक रूपाणी 15 अक्टूबर को 10 बजे सीएम योगी आदित्यनाथ के साथ मुलाकात करेंगे। रूपाणी इस मुलाकात के दौरान योगी को 31 अक्टूबर को होने वाले ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ कार्यक्रम के लिए न्योता देंगे। ये दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा होगी।

इस मुलाकात के दौरान गुजरात में उत्तर भारत के लोगों पर हो रहे हमले को लेकर भी चर्चा होने की उम्मीद लगाई जा रही है। इससे पहले गुजरात के घटनाक्रम को लेकर योगी ने रूपाणी से फोन पर बात की थी। जिस पर उन्होंने आश्वासन दिया था कि गुजरात सरकार द्वारा हर व्यक्ति की सुरक्षा सुनिश्चित की गई है तथा सभी का गुजरात में सम्मान है।

बता दें कि 31 अक्टूबर को सरदार पटेल के जन्मदिन पर ही इस मूर्ति का अनावरण किया जाएगा। यह मूर्ति पटेल को श्रद्धांजलि है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस दिन भारत के लौह पुरुष कहे जाने वाले सरदार वल्लभ भाई पटेल की 182 मीटर ऊंची मूर्ति का उद्घाटन करेंगे। इसके साथ ही यह मूर्ति दुनिया की सबसे ऊंची मूर्ति(प्रतिमा) बन जाएगी। इस स्टैच्यू की बनावट की खासियत इतनी है कि यह इंजीनियरिंग की एक मिसाल बन गया है। इसके साथ ही भारत एक खास चीज के लिए गौरवपूर्वक वर्ल्ड रिकॉर्ड कायम कर लेगा।