एग्जिट पोल 2018: पांचों राज्यों में कुछ ऐसी दिख रही है तस्वीर…

Written by Newsroom Staff December 7, 2018 9:30 pm

नई दिल्ली। एग्जिट पोल 2018 मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान, तेलंगाना और मिजोरम को लेकर अलग-अलग आंकड़े आ रहे हैं। हालांकि माना ये जा रहा है कि राजस्थान में सत्ता कांग्रेस को मिल सकती है। तो वहीं छत्तीसगढ़ को लेकर ये अनुमान लगाया जा रहा है कि बीजेपी फिर से सत्ता में वापसी कर सकती है। जबकि मध्यप्रदेश में मामला काफी हद तक फंसता दिख रहा है।Shivraj SIngh Chouhanबता दें कि मध्यप्रदेश के लिए अब तक 7 सर्वे सामने आए हैं। चार में कांग्रेस को बहुमत मिलता दिख रहा है। राजस्थान के 6 सर्वे में से 4 में कांग्रेस की सरकार बनने के आसार हैं। छत्तीसगढ़ के 7 सर्वे में भाजपा 4 और कांग्रेस 3 पर आगे है। तेलंगाना में 4 सर्वे आए हैं, इनमें सभी में टीआरएस की सरकार बनती दिख रही है।

मध्य प्रदेश में 230 सीटें हैं। इसके लिए 28 नवंबर को वोटिंग हुई थी। 75 फीसदी लोगों ने मतदान किया था। 2013 में भाजपा ने 165 और कांग्रेस ने 58 सीटें जीती थीं।

मध्य प्रदेश

राजस्थान में इस बार 200 में से 199 सीटों पर वोटिंग हुई। यहां शुक्रवार को वोटिंग हुई। 2013 में यहां भाजपा ने 163 और कांग्रेस ने 21 सीटें जीती थीं।

राजस्थान

 

छत्तीसगढ़ में 90 सीटें हैं। यहां 12 नवंबर और 20 नवंबर को दो चरणों में वोटिंग हुई। कुल 76.35 फीसदी मतदान हुआ। पिछली बार भाजपा ने 49 और कांग्रेस ने 39 सीटें जीती थीं। बसपा के खाते में एक ही सीट आई थी, लेकिन उसका वोट प्रतिशत 4.4% रहा था। बसपा और जोगी की छजकां के बीच इस बार गठबंधन है। जोगी ने 2016 में कांग्रेस से अलग होकर पार्टी बनाई थी।

छत्तीसगढ़

तेलंगाना राज्य में 119 सीटें हैं। यहां भी शुक्रवार को वोटिंग हुई। आंध्र से अलग होकर नए राज्य बने तेलंगाना में 2014 में पहली बार चुनाव हुआ था। तेलंगाना राष्ट्र समिति ने 63, कांग्रेस ने 21, तेदेपा ने 15, एआईएमआईएम ने 7 और भाजपा ने 5 सीटें जीती थीं। इस बार मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने छह महीने पहले ही विधानसभा भंग करने की सिफारिश की थी। इसी वजह से यहां जल्दी चुनाव हो रहे हैं। इस बार कांग्रेस और तेदेपा एक साथ चुनाव लड़ रहे हैं।

तेलंगाना

मिजोरम राज्य में 40 विधानसभा सीटें हैं। यहां 28 नवंबर को वोटिंग हुई थी। यहां 10 साल से कांग्रेस सत्ता में है। मुख्यमंत्री ललथनहवला तीन बार से मुख्यमंत्री हैं। 2013 में यहां कांग्रेस ने 34 सीटें जीती थीं। एमएनएफ को 5 और एमजेडपीसी को 1 सीट मिली थी। इस बार विधानसभा अध्यक्ष हेफई समेत कांग्रेस के कई नेता भाजपा में शामिल हो चुके हैं।

मिजोरम

भाजपा ने यहां चुनाव की कमान असम के मंत्री हेमंत बिस्व शर्मा को दी है, जिनके नेतृत्व में पार्टी ने इसी साल त्रिपुरा में पहली बार जीत हासिल की थी। मिजोरम कांग्रेस की सरकार वाले चार राज्यों में शामिल है। यह पूर्वोत्तर का इकलौता राज्य है जहां भाजपा सत्ता में नहीं है।

Facebook Comments