बाबरी विध्वंस की 26वीं बरसी आज, कड़े सुरक्षा घेरे में जकड़ी अयोध्या

Avatar Written by: December 6, 2018 8:37 am

नई दिल्ली। अयोध्या में विवादित बाबरी विध्वंस गिराए जाने की आज 26वीं बरसी है।6 दिसम्बर 1992 को बाबरी ढांचा गिराए जाने के बाद से आज तक उस दिन को पूरे प्रदेश भर में हिन्दूवादी संगठन इसे शौर्य दिवस के रूप में मनाते हैं। वहीं मुस्लिम पक्षकार इसे काला दिवस के रूप में मनाते हैं। वहीं इस बार भी होने वाले दोनों पक्षों के आयोजनों को लेकर सरकार ने अयोध्या में सुरक्षा कड़ी कर दी है।

आपको बता दें, बाबरी ढांचा विध्वंस की बरसी पर आयोजित होने वाले दोनों समुदायों के कार्यक्रमों को लेकर जिला प्रशासन व सरकार पूरी तरह से अलर्ट पर है। खासतौर पर बुलंदशहर में हुई घटना के बाद से पूरे जिले में लगी हुई धारा 144 के साथ जिले के बार्डर पर विशेष नजर रखी जा रही है।

अयोध्या में 32 स्थानों पर पुलिस चेक पोस्ट बनाए गए हैं। अयोध्या में रेड जोन एरिया में हमेशा से ही 4 व्हीलर पर रोक रहती है, लेकिन 6 दिसम्बर को सभी आने वाले फोर व्हीलर को रेड जोन व यलो जोन में और रेड जोन के कुछ हिस्सों में बाइक पर भी रोक लगाई जाएगी।

वहीं दूसरी ओर यलो जोन के इंचार्ज व एसपी सिटी अनिल कुमार सिंह सिसोदिया के मुताबिक अयोध्या को 7 सेक्टरों में बांटा गया है। अलग अलग स्थानों को पीएसी, सीआरपीएफ और आरएएफ को लगाया गया है। उन्होंने बताया कि इस बार खूफिया तंत्र की इनपुट के आधार पूरा प्रशासन 5 दिसम्बर से ही पूरे अलर्ट पर हैं और जिन लोगों ने प्रशासन से कार्यक्रम करने की अनुमति ली होगी सिर्फ वे लोग ही कर सकेंगे।

एसपी सिटी अनिल कुमार सिंह सिसोदिया ने बताया कि 10 एडीशनल एसपी, 10 डीएसपी और इसी हिसाब से इंस्पेक्टर को लगाया गया है। इनके अलावा 150 से ज्यादा सब इंस्पेक्टर को लगाया गया है। 500 आरक्षी महिला पुलिस कर्मियों व 350 से ज्यादा ट्रैफिक पुलिस व घुड़सवार पुलिस को भी लगाया गया है। ड्रोन से सभी क्षेत्रों की मॉनिटरिंग की जा रही है। छतों पर भी पुलिस ड्यूटी की सारी व्यवस्था की गई है।