1 महीने विमर्श करने के बाद खारिज किया सीजेआई के खिलाफ महाभियोग : वेंकैया नायडू

Avatar Written by: April 24, 2018 5:49 pm

नई दिल्ली। उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने कहा कि उन्होंने भारत के चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा को हटाने से जुड़े सात दलों के महाभियोग के प्रस्ताव को जल्दबाजी में खारिज नहीं किया, बल्कि इसका फैसला एक महीने तक पूरी तरह सोच-विचार करने के बाद लिया गया।Vice President M Venkaiah Naidu
गौरतलब है कि सभापति ने हाल ही में सीजेआई दीपक मिश्रा के खिलाफ महाभियोग के नोटिस को गैर-संवैधानिक और राजनीतिक करार देते हुए खारिज कर दिया था। इस पर कांग्रेस बुरी तरह बिफर गई और राज्य सभा के सभापति वेंकैया नायडू पर ही सवाल खड़े कर दिए थे।Congress President Rahul Gandhi

जिसके बाद आज वेंकैया नायडू ने कहा, ‘सीजेआई दीपक मिश्रा के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव का नोटिस खारिज करने का फैसला पूरी तरह संविधान और न्यायाधीश जांच अधिनियम के प्रावधानों के अनुसार किया गया।’

supreme court of india, Delhi
 

सुप्रीम कोर्ट के 10 वकील इस मामले में वेंकैया से मिले थे और उनसे बातचीत करते हुए सभापति ने कहा, ‘मैंने अपना काम कर दिया है और मैं इससे पूरी आश्वस्त हूं।’ गौरतलब है कि कांग्रेस के नेतृत्व में सात दलों ने चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा के खिलाफ महाभियोग का प्रस्ताव पिछले हफ्ते उपराष्ट्रपति को दिया था।

कांग्रेस ने सीपीएम, सीपीआई, एसपी, बीएसपी, एनसीपी और मुस्लिम लीग के समर्थन का पत्र उपराष्ट्रपति को सौंपा था। भले ही कांग्रेस के भीतर सभापति के महाभियोग नोटिस को खारिज करने पर विरोध चल रहा हो, लेकिन बीजेपी ने सभापति के इस कदम को लोकतंत्र को बचाने वाला कदम बताया।

Support Newsroompost
Support Newsroompost