कांग्रेस को भी कांग्रेस कल्चर से मुक्त होना होगाः नरेंद्र मोदी

Written by: January 1, 2019 5:42 pm

नई दिल्ली। नए साल के पहले दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने न्यूज एजेंसी एएनएई को अपना साक्षात्कार दिया। एएनआई की संपादक स्मिता प्रकाश ने प्रधानमंत्री का यह साक्षात्कार लिया है। इस साक्षात्कार में प्रधानमंत्री से देश के हर मुद्दे पर बात की गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी अपने साक्षात्कार में सभी सवालों का बड़े सधे और सीधे तौर पर जवाब दिया इसके साथ हीं प्रधानमंत्री ने जमकर अपने साक्षात्कार के दौरान सवालों के जवाबों में विपक्ष को भी अपने निशाने पर लिया।  Narendra Modi ANI

सभी देशवासियों को नववर्ष की बधाई देते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने 2018 को सबसे सफल साल बताया। उन्होंने इस साल विधानसभा चुनावों में मिली हार पर कहा कि चुनाव देश के अनके पहलुओं में से एक छोटा पहलू होता है। जबकि दूसरे तरफ आयुष्मान योजना है, जिससे गरीबों का इलाज हो रहा है और यह मेरे लिए बहुत संतोष का विषय है।

प्रधानमंत्री से जब राम मंदिर को लेकर सरकार की तरफ से अध्यादेश लाने पर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि राम मंदिर पर अध्यादेश नहीं लेकर आएगी सरकार, राम मंदिर पर पीएम मोदी ने कहा कि कानूनी प्रक्रिया के बाद ही फैसला होगा और राम मंदिर संविधान के तहत बनेगा। मोदी ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि इस मामले को कांग्रेस के नेताओं ने कोर्ट में रोड़े अटकाए और इस पर फैसला नहीं आने दिया।

पीएम मोदी ने कहा है कि राम मंदिर पर कानूनी प्रक्रिया के बाद ही अध्यादेश पर विचार किया जाएगा। हालांकि, उन्होंने यह कहा है कि कानूनी प्रक्रिया में कांग्रेस ने अड़ंगा लगाया है। उन्होंने स्पष्ट कहा है कि राम मंदिर कानून से ही बनेगा।Narendra Modi ANI

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2019 के पहले इंटरव्यू में कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर बड़ा खतरा सामने था लेकिन मुझे जवानों की सुरक्षा की ज्यादा चिंता थी। मोदी ने कहा इस ऑपरेशन की कामयाबी से ज्यादा मुझे जवानों की चिंता थी, उरी आतंकी हमले ने मुझे बेचैन कर दिया था, मैं बहुत गुस्से में था।

नोटबंदी पर उन्होंने कहा है कि यह झटका नहीं था। हमने एक साल पहले से लोगों को आगाह किया था कि अगर आपके काला धन है तो आप इसे जमा करा सकते हैं।


महागठबंधन के सवाल पर प्रधानमंत्री ने कहा है कि इस बार चुनाव महागठबंधन बनाम जनता होगा।


रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया से उर्जित पटेल के इस्तीफे पर उन्होंने कहा कि सरकार का आरबीआई पर कोई दबाव नहीं है और उर्जित पटेल ने निजी कारणों से इस्तीफा दिया है। पीएम मोदी ने कहा, ‘मैं पहली बार यह बता रहा हूं कि वह 6-7 महीने पहले से मुझे इस्तीफे की बात कह रहे थे। यहां तक कि उन्होंने ऐसा लिखित में दिया था। उन्होंने अच्छा काम किया है और राजनीतिक दबाव का कोई सवाल ही नहीं उठता है।

गांधी परिवार पर हमला करते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस की चार पीढ़ियों ने देश चलाया है और ऐसा परिवार अब वित्तीय अनियमितता के चलते जमानत पर बाहर है।

सीमा पार से पाकिस्तान की हरकतों पर पीएम मोदी ने कहा कि ये सोचना बहुत बड़ी गलती होगी कि पाकिस्तान एक लड़ाई से सुधर जाएगा। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को सुधारने में अभी और समय लगेगा।

तेलंगाना और मिजोरम में भाजपा की सत्ता आएगा ऐसा कोई नहीं कहता था। लेकिन छत्तीसगढ़ में साफ-साफ नतीजा आया और बीजेपी को हार मिली। वहीं, मध्य प्रदेश और राजस्थान में हार उन्होंने कहा कि यहां लंबी एंटी इनकमबेंसी थी। लेकिन उसके बाद हरियाणा में स्थानीय चुनाव भाजपा ने जीते। साथ ही जम्मू कश्मीर में भाजपा और उससे जुड़े लोगों ने चुनाव जीते। पीएम मोदी ने स्पष्ट कहा कि जीत और हार यही एक मानदंड नहीं होता है।Narendra Modi ANI

मोदी लहर कायम है या नहीं इस पर पीएम मोदी ने कहा कि विपक्षी मोदी लहर को मानते हैं, यह खुद में बड़ी बात है। लेकिन उन्होंने कहा कि वह खुद यह मानते हैं कि हल सिर्फ जनता की आशा और आकांक्षाओं की होती है।

भाजपा के कांग्रेस मुक्त नारे पर पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस एक सोच, एक कल्चर है और यही कल्चर देश में फैल गया था। इसीलिए जब मैं कांग्रेस मुक्त कहता हूं तो इस प्रकार की सोच और कल्चर से मुक्ति की बात करता हूं। दुर्भाग्य है कि देश में मजबूत विपक्ष नहीं है। कांग्रेस को भी कांग्रेस कल्चर से मुक्त होना होगा।

भाजपा को क्या नरेंद्र मोदी और अमित शाह चला रहे हैं, इस सवाल पर पीएम मोदी ने कहा कि ऐसा वह लोग कहते हैं जो भाजपा को जानते हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा आज विश्व का सबसे बड़ा संगठन है और भाजपा सिर्फ दो व्यक्तियों से नहीं, पोलिंग बूथ से चलती है।

जो जमानत पर हैं वह सैर कर सकते हैं। भारत के पूर्व वित्तमंत्री को भी अदालत के चक्कर काटना पड़ रहा है। पीएम मोदी से जब सवाल किया कि 2014 के चुनाव से पहले सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा को लेकर जमकर भाषण दिए गए, लेकिन अब तक कोई जेल नहीं गया। इस पर पीएम मोदी ने कहा कि इस देश की फर्स्ट फैमिली अगर आज जमानत पर बाहर है, तो ये बहुत बड़ी बात है और बाकी जो पार्क में सैर कर रहे हैं, वो भी कानून प्रक्रिया का सामना करेंगे। पी. चिदंबरम पर उन्होंने कहा कि इस देश के पूर्व वित्त मंत्री को आज अदालत के चक्कर काटने पड़ रहे हैं।

सरकार ने भगोड़ों की संपत्ति जब्त करने का कानून बनाया है। उन्हें देश से इसलिए भागना पड़ा क्योंकि पहले की तरह वो कानून का मखौल उड़ाकर देश में सुरक्षित नहीं रह सकते थे। पीएम मोदी ने आश्वस्त किया कि हिंदुस्तान का चुराया हुआ पैसा लाने के लिए सरकार पूरी तरह प्रतिबद्ध है।

क्या जीएसटी गब्बर सिंह टैक्स है, इस पर पीएम मोदी ने कहा कि यह सिर्फ भाजपा की देन नहीं है, यह विचार काफी वक्त से चल रहा था। उन्होंने राहुल गांधी की टिप्पणी पर कहा कि जिसकी जैसी सोच है, वैसी ही उसकी भाषा होती है। उन्होंने कहा कि संसद में जीएसटी पर सबकी सहमति है और इसमें कांग्रेस भी शामिल रही है। जीएसटी काउंसिल में कांग्रेस की सरकारें हैं। ऐसे में इसकी बुराई करना सही नहीं है।

मिडिल क्लास पर बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा कि इनकी चिंता करना हम अपना दायित्व समझते हैं। महंगाई की तुलना अगर 2014 से करें तो आपको समझ आएगा कितना फर्क आया है और इसका सीधा फायदा मध्यम वर्ग को हुआ है।

कांग्रेस सरकारों द्वारा किसानों की कर्जमाफी पर पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि लोग इस मसले पर झूठ बोल रहे हैं। कहा जाता है कि सब किसानों के कर्ज माफ होगा, लेकिन ऐसा नहीं होता है। पीएम मोदी ने स्पष्ट कहा कि अगर कर्जमाफी से किसानों का भला होता है तो यह करना चाहिए। लेकिन ऐसा होता नहीं है, क्योंकि पहले भी कर्जमाफ होते रहे हैं। लेकिन बार-बार कर्जमाफ करने के बावजूद किसान कर्जदार क्यों हो जाता है। पीएम मोदी ने इसका उपाय बताते हुए कहा कि किसानों के कर्जमाफ करने के बजाय उन्हें मजबूत किया जाए और यह काम हमारी सरकार ने किया है। हमारी सरकार ने सिंचाई की व्यवस्था की है। हम ऐसी स्थिति बना रहे हैं कि किसान पर कर्ज रह न सके।

तीन तलाक पर मोदी सरकार अध्यादेश लाई, लेकिन राम मंदिर पर ऐसा नहीं किया गया, इस सवाल पर पीएम मोदी ने कहा कि तीन तलाक बिल सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद लाया गया है। हमने अपने मेनिफेस्टो में भी कहा है कि हम राम मंदिर का निर्माण संविधान की मर्यादा में किया जाएगा। उन्होंने कहा कि मैं कांग्रेस के वकीलों से अपील करता हूं कि देश की शांति, सुरक्षा और भाईचारे के लिए काम करें और न्याय की प्रक्रिया में अड़ंगे न लगाएं।


पीएम नरेंद्र मोदी ने मॉब लिंचिंग जैसी घटनाओं के पक्ष में उठने वाली आवाज को गलत बताया। लेकिन उन्होंने सवाल भी उठाए कि क्या ऐसा सिर्फ 2014 के बाद हुआ है। उन्होंने इसे एक समस्या बताते हुए मिलकर इसके समाधान की बात कही। साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि हम सबको दूसरे की भावनाओं का आदर करना चाहिए। पीएम मोदी ने केरल, कर्नाटक, पश्चिम बंगाल जैसे राज्यों में राजनीतिक हत्याओं की निंदा की। उन्होंने कहा कि यह रास्ता सही नहीं है और किसी कार्यकर्ता के लिए ऐसी हिंसा नहीं होनी चाहिए।

तीन तलाक पर महिलाओं के अधिकार की बात करने वाली भाजपा सबरीमाला मंदिर में महिलाओं की एंट्री का विरोध क्यों करती है, इस सवाल पर पीएम मोदी ने कहा कि दुनिया के किसी भी इस्लामिक देश में तीन तलाक की परमिशन नहीं है। इसलिए यह धार्मिक आस्था नहीं, बल्कि सामाजिक न्याय का मसला है। सबरीमाला मंदिर पर उन्होंने कहा कि देश के कुछ मंदिर ऐसे भी हैं कि जहां पुरुष नहीं जाते हैं।

कांग्रेस के नेतृत्व में गैर-भाजपा दलों की एकजुटता पर पीएम मोदी ने कहा कि उनका कोई विजन नहीं है, गठबंधन के सदस्य सिर्फ मोदी की आलोचना करते रहते हैं। पीएम मोदी ने कहा कि आगामी चुनाव इस मुद्दे पर होने वाला है कि जनता के साथ कौन है। अब जनता को तय करना है कि देश को लूटने वाले एक साथ आ रहे हैं, उनका क्या करना है।

गंगा की सफाई के मामले पर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि गंगा का पानी पहले से काफी साफ हुआ है। साथ ही उन्होंने कहा कि यह काफी बड़ा काम है।