लोकसभा में अंतरिम बजट पारित

लोकसभा में सोमवार को दिनभर की चर्चा के बाद वित्तीय वर्ष 2019-20 के लिए अंतरिम बजट पारित कर दिया गया। वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने सदन में हंगामे के बीच ध्वनिमत से विनियोग विधेयक और वित्त विधेयक पेश किया।

Written by Newsroom Staff February 11, 2019 8:43 pm

नई दिल्ली। लोकसभा में सोमवार को दिनभर की चर्चा के बाद वित्तीय वर्ष 2019-20 के लिए अंतरिम बजट पारित कर दिया गया। वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने सदन में हंगामे के बीच ध्वनिमत से विनियोग विधेयक और वित्त विधेयक पेश किया।


वित्त मंत्री के जवाब के बाद विधेयक को ध्वनिमत से पारित कर दिया गया।

गोयल ने कहा कि सरकार समाज के सभी वर्गो के लिए काम कर रही है और बजट में सबका ख्याल रखा गया है।

गोयल ने विपक्षी पार्टियों द्वारा हंगामे के बीच कहा, “गरीब, किसान और मध्यवर्गीय सरकार की प्राथमिकता है। हमारी सरकार न्यूनतम समर्थन मूल्य(एसएसपी) बढ़ाने वाली पहली सरकार थी।”


गोयल ने 1 फरवरी को लेखानुदान के साथ अंतरिम बजट पेश किया था।

इसके पहले केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल द्वारा पेश अंतरिम बजट में टैक्स छूट की सीमा 2.5 लाख से बढ़ाकर सीधे 5 लाख कर दी गई है। बजट पेश करने के दौरान केंद्रीय वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने ‘प्रधानमंत्री योगदान श्रम योगी मानधन’ योजना की घोषणा की थी, जिसके तहत असंगठिक क्षेत्र के मजदूरों को 3,000 रुपये प्रतिमाह की निश्चित पेंशन दी जाएगी।

Piyush Goyal

लोकसभा में साल 2019-20 का अंतरिम बजट पेश करते समय गोयल ने कहा था कि इस योजना से 10 करोड़ कामगारों को लाभ होगा और यह अगले पांच सालों में असंगठित क्षेत्र के लिए विश्व की सबसे बड़ी पेंशन योजना बन सकती है। इस योजना के तहत, श्रमिकों को 60 वर्ष की आयु के बाद 3,000 रुपये की मासिक पेंशन मिलेगी। श्रमिकों को योजना के लिए प्रति माह 100 रुपये का योगदान देना होगा।

केंद्रीय मंत्री ने दो सेक्टर भूमि वाले किसानों को 6,000 रुपये की प्रत्यक्ष वार्षिक आय सहायता की घोषणा की थी।