हार्दिक पटेल की हालत बिगड़ी, मेधा पाटकर को मिलने से रोका, जीतनराम मांझी मिले

Avatar Written by: September 2, 2018 4:28 pm

नई दिल्ली। पाटीदार आरक्षण आंदोलन समिति (पास) के नेता हार्दिक पटेल की हालत बिगड़ती जा रही है। गुजरात के अहमदाबाद स्थित अपने आवास पर आमरण अनशन पर बैठे हार्दिक की स्थिति को देख साधु-संतों ने शनिवार सुबह उन्‍हें पानी पिलाया। पिछले आठ दिनों से अनशन पर बैठे हार्दिक पटेल ने तीन दिन से पानी का भी त्‍याग कर रखा था। जल त्याग करने के बाद से हार्दिक का वजन लगभग सात किलो तक घट चुका है।   Hardik Patel Hunger Strike गुजरात सरकार से आरक्षण की मांग को लेकर पिछले आठ दिनों से अनिश्चितकालीन अनशन पर बैठे पाटीदार नेता हार्दिक पटेल की हालत लगातार बिगड़ती जा रही है। पिछले तीन दिनों से पानी भी न पीने के कारण उनकी हालत तेजी से बिगड़ रही थी। Hardik Patel Hunger Strikeकांग्रेसी नेताओं के समझाने पर आखिरकार हार्दिक पटेल ने शनिवार को संत एसपी स्‍वामी के हाथ से पानी पीकर जल अनशन तो खत्‍म कर दिया, लेकिन भूख हड़ताल अभी भी जारी है।Hardik Patel with doctor

सूत्रों के मुताबिक, गुजरात सरकार हार्दिक पटेल को बहुत जल्‍द हॉस्पिटल में शिफ्ट करने पर विचार कर रही है। हार्दिक की सेहत में गिरावट आने की वजह से राज्य में हिंसा भड़कने की आशंका है।Hardik Patel Sanjiv Bhatt

इस बीच उनके स्वास्थ्य की जांच करने वाले डॉक्टरों टीम की अगुवा सोला सिविल हॉस्पिटल की असिस्टेंट प्रोफेसर डॉक्टर नम्रता वडोदरिया ने कहा कि हार्दिक का हिमोडाइनेमिकली स्टेबल है, ऑक्सीजन नॉर्मल है।Hardik Patel Madhusudan Mistri

किसानों की कर्ज माफी और पाटीदार आरक्षण के मुद्दे पर बाहर अनशन की सरकारी अनुमति नहीं मिलने के बाद हार्दिक पटेल अहमदबाद में एसजी हाईवे के निकट स्थित अपने आवास पर 25 अगस्त से भूख हड़ताल पर बैठे हैं।

हार्दिक पटेल से मिले जीतनराम मांझी, कहा- ‘बनाएंगे राष्ट्रीय आंदोलन’

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी अनशन पर बैठे पाटीदार नेता हार्दिक पटेल से मिलने पहुंचे। जीतनराम मांझी ने हार्दिक पटेल से मिलकर उनका हाल जाना। जीतनराम मांझी हार्दिक पटेल से मिलने के लिए अहमदाबाद में धरना स्थल पर पहुंचे। उन्होंने कहा कि उनके साथ बिहार भी खड़ा है।Hardik Patel Jitan Ram Manjhi

गुजरात सरकार से आरक्षण की मांग को लेकर पिछले आठ दिनों से अनिश्चितकालीन अनशन पर बैठे पाटीदार नेता हार्दिक पटेल की हालत लगातार बिगड़ती जा रही है। इस दौरान जीतनराम मांझी वहां पहुंचकर कहा कि हार्दिक पटेल के आंदोलन में बिहार साथ खड़ा है। उन्होंने कहा कि हम इस आंदोलन को राष्ट्रीय आंदोलन बनाएंगे।Hardik Patel Jignesh Mevani

मेधा पाटकर को पाटीदारों ने हार्दिक पटेल से मिलने से रोका

पाटीदार आरक्षण आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल को अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर बैठे शनिवार को 8 दिन हो गए हैं और इस दौरान उनसे मिलने पहुंची मशहूर सामाजिक कार्यकर्ता मेधा पाटकर को उनके समर्थकों ने किसान विरोधी बताते हुए वापस लौटा दिया।Medha Patkar

‘नर्मदा बचाओ आंदोलन’ की नेता पाटकर आज उनसे मिलने उनके घर पहंची थीं। बहरहाल, ‘पाटीदार अनामत आंदोलन समिति’ (पास) के कार्यकर्ताओं ने उन्हें पटेल से मिलने नहीं दिया।Hardik Patel Hunger Strike

पास के संयोजक और हार्दिक पटेल की करीबी गीता पटेल ने कहा, ‘पाटकर हमेशा गुजरात विरोधी रही हैं, विशेषकर उन्होंने नर्मदा बांध का विरोधी किया था, जिससे किसान को कई वर्षों तक खेती के लिए पानी नहीं मिल पाया। इस कारण ही ‘पास’ के युवकों ने उनके यहां आने का विरोध किया।’ पाटकर ने बाद में मीडिया से कहा कि वह किसान विरोधी नहीं हैं।Hardik Patel Dinesh trivedi

पर्यावरण कार्यकर्ता ने कहा, ‘आज भी लोगों को नर्मदा बांध मुद्दे की सही समझ नहीं है, हम किसानों के समर्थन में आवाज उठा रहे हैं। लेकिन जिन्हें यह नहीं पता…(वह मेरा विरोध कर रहे हैं)। हजारों पाटीदार किसान हमारे साथ लड़ रहे हैं क्योंकि उन्हें पूर्ण पुनर्वास पैकेज नहीं मिले हैं।’ Hardik Patel Alpesh Thakorउन्होंने कहा, ‘मुझे नहीं लगता हार्दिक मेरे यहां आने का विरोध करेंगे, क्योंकि मैंने कल फोन पर उनसे बात की थी और उन्हें मुझसे मिलने में कोई दिक्कत नहीं थी।’ कल 25 आरक्षण आंदोलन नेता ने घोषणा की थी कि वह अब से पानी भी नहीं पिएंगे। हालांकि एक धार्मिक नेता ने उन्हें आज पानी दिया और उन्होंने थोड़ा सा पानी पी लिया।