पीएम मोदी का बनारस… चार सालों में बना चुका है कई रिकॉर्ड, देखिए पूरी रिपोर्ट

Avatar Written by: November 11, 2018 7:12 pm

नई दिल्ली। बनारस अब सिर्फ बनारस नहीं रह गया, बल्कि ये अब पीएम मोदी का बनारस हो चुका है, क्योंकि अब वाराणसी की हर छोटी बड़ी गलती के लिए भी सीधे तौर पर पीएम मोदी को जिम्मेदार माना जाता है, चूंकि पीएम मोदी यहां से सांसद है, लिहाजा उनकी जिम्मेदारी भी यहां के प्रति ज्यादा बनती है। चूंकि वाराणसी से पीएम मोदी को टक्कर देने के लिए सीएम केजरीवाल ने चुनाव लड़ा था। ऐसे में कहीं ना कहीं एक मुकाबला आज की तारीब में बनारस और दिल्ली के बीच में भी हो रहा है, जिसका एक बड़ा और मुख्य कारण हर बात के लिए सीएम केजरीवाल द्वारा पीएम मोदी को जिम्मेदार ठहराना है।

चूंकि जबसे पीएम मोदी यहां से सांसद बने हैं, बनारस ना सिर्फ देश की मीडिया की सुर्खियों बल्कि इंटरनेशनल मीडिया की नजरों में भी चढ़ चुका है। ऐसे में हम आज आपको बताने जा रहे हैं पीएम मोदी के सांसद रहते यहां हुए कुछ बड़े काम, जिनमें कई काम ऐतिहासिक हैं,क्योंकि ये आजादी के बाद से पहली बार यहां हो रहे हैं।सबसे पहले बात करते हैं वाराणसी को मिले पहले लग्जरी क्रूज की। लग्जरी क्रूज शायद इसलिए भी इस शहर को मिला है, क्योंकि यहां पूरे सालभर विदेशियों सैलानियों का जमावड़ा लगा रहता है। इससे पहले कभी इस शहर को इस तरह का आधुनिक जलयान नहीं मिला था।तो वहीं बनारस ने असंभव से दिखना वाला काम भी कर दिखाया है, जो कि जलयातायात से जुड़ा है। आजादी के बाद से पहली बार बनारस से कोलकाता वाया समुद्री मार्ग पर चीजों का आदान-प्रदान किया जा रहा है। बता दें कि कोलकाता से पेप्सिको उत्‍पादों के कंटेनर लेकर मालवाहक जहाज टैगोर अब बनारस पहुंच चुका है। प्रधानमंत्री टर्मिनल पर कोलकाता से लेकर चले इस जहाज पर देश का पहला अंतर्देशीय कार्गो कंसाइनमेंट भी प्राप्त करेंगे।

सोमवार को पीएम मोदी वाराणसी में 1571.95 करोड़ रुपये की लागत से बनी दो राजमार्ग परियोजनाओं को राष्ट्र को समर्पित करेंगे। इसी दिन वह वाराणसी में गंगा नदी पर बने अंतर्देशीय जलमार्ग टर्मिनल को भी राष्ट्र को समर्पित करेंगे।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 12 नवंबर को काशी को 2,500 करोड़ रुपये के विकास कार्यों का सबसे बड़ा तोहफा देंगे।

इसी परियोजना के तहत उत्तर प्रदेश के गाजीपुर, झारखंड के साहिबगंज और पश्चिम बंगाल के हल्दिया में एक-एक टर्मिनल बनाए जा रहे हैं। इसके अलावा पीएम मोदी बनारस के रामनगर में 20800.00 लाख रुपये की लागत से नवनिर्मित देश के पहले आईडब्ल्यूटी मल्टीमॉडल टर्मिनल देश को समर्पित करेंगे। बता दें कि कुल चार मल्टी-माडल टर्मिनल में से ये पहला टर्मिनल है जिसका निर्माण राष्ट्रीय जलमार्ग-1 पर किया गया है।

वाराणसी-बाबतपुर हवाई अड्डे को शहर से जोड़ने वाली 17.25 किलोमीटर की सड़क को भी 829.59 करोड़ रुपये की लागत से तैयार किया गया है। वाराणसी शहर से बाबतपुर हवाई अड्डे को जोड़ने वाली सड़क से जौनपुर, सुल्तानपुर और लखनऊ तक की यात्रा की सुगम हो जाएगी।

 

इस मार्ग में पड़ने वाले हरहुआ में एक फ्लाईओवर और तरना में एक रोड ओवर ब्रिज बनवाया गया, ताकि वाराणसी से हवाई अड्डा जाने में कम से कम समय लगे। इससे बनारस घूमने आने वाले राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय पर्यटकों को भी आसानी होगी।

इसके अलावा बनारस में माँ गंगा घाटों की स्वच्छता एवं सुंदरता हेतु भी मोदी सरकार लगातार प्रयास जारी हैं।

इस वीडियो के जरिए से आप समझ सकते हैं कि वाराणसी में किस हद तक सुधार हुआ है, और अब कितना बदल चुका है।

पीएम मोदी ने खुदकर ट्वीट कर बताया कि गंगा को साफ करने के लिए 140 MLD की क्षमता वाला सीवरेज प्लांट लगाया गया।