दिग्विजय सिंह की बढ़ी मुश्किलें, नक्सलियों के साथ लिंक होने का हुआ खुलासा

Avatar Written by: November 19, 2018 10:03 am

नई दिल्ली। पुणे पुलिस को भीमा कोरेगांव हिंसा की जांच के मामले में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह से तार जुड़ते दिख रहा हैं। पुलिस का कहना है कि जनवरी में हुई इस हिंसा में कांग्रेस के इस दिग्गज नेता की भूमिका की वह जांच कर रही है। पुणे पुलिस के डीसीपी सुहास बावचे का कहना है कि अगर जरूरत पड़ी, तो हम दिग्विजय सिंह को जांच में जुड़ने के लिए समन भी कर सकते हैं।

Digvijay Singh
भीमा कोरेगांव मामला: दिग्विजय सिंह की बढ़ी मुश्किलें, नक्सलियों के साथ कॉल का मिला लिंक

पुणे पुलिस के मुताबिक, उस मामले में जून में गिरफ्तार एक्टिविस्ट रोना विल्सन को वॉन्टेड नक्सली नेता मिलिंद टेल्टुम्ब्डे ने खत लिखा था, जिसमें कहा गया था कि कई कांग्रेसी नेता हमारी मदद को तैयार हैं। इसी जांच में पुलिस ने जब गिरफ्तार माओवादी समर्थक नेताओं प्रकाश उर्फ रितुपन गोस्वामी और सुरेंद्र गाडलिंग के मोबाइल नंबरों की पड़ताल की, तो एक नंबर पर उनकी जिनसे बात हुई थी, वह कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह का निकला।

डीसीपी सुभाष ने माना कि पुलिस की यह जांच बहुत संवेदनशील और हाई प्रोफाइल लोगों से जुड़ी है। उन्होंने कहा कि हम इस मामले में सभी ऐंगल से पड़ताल कर रहे हैं।

digvijay singh

इससे पहले भाजपा की तरफ से कांग्रेस के इस बड़े नेता पर नक्सल लिंक का आरोप लगाया गया था। दिग्विजय ने बीजेपी के इस आरोप पर तुरंत कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि अगर बीजेपी मुझपर नक्सली होने के आरोप लगा रही है तो सरकार मुझे गिरफ्तार क्यों नहीं करती? कांग्रेस नेता ने कहा कि उन्हें पहले भी देशद्रोही कहा जा चुका है, इसलिए सरकार उन्हें गिरफ्तार करे।

Support Newsroompost
Support Newsroompost