राम मंदिर: श्रीश्री रविशंकर को बड़ी कामयाबी, मिलजुलकर मामले का हल चाहते हैं मुस्लिम पक्षकार

Written by: November 12, 2018 11:56 am

नई दिल्ली। अयोध्या विवाद को आपसी बातचीत से सुलझाने के आर्ट ऑफ लिविंग के संस्थापक और आध्यात्मिक गुरु श्री श्री रविशंकर के प्रयासों को एक बड़ी कामयाबी मिलती दिख रही है। राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद टाइटिल सूट केस के याचिकाकर्ता इस मामले को ‘कोर्ट के बाहर सुलझाने’ के समर्थन में आ गए हैं। याचिकाकर्ताओं ने इस बारे में एक बयान पर हस्ताक्षर किए हैं। उनका कहना है कि वे सदियों पुराने इस विवाद का एक सौहार्दपूर्ण हल निकालने के इच्छुक हैं।हमें मिले एक लेटर के मुताबिक, बाबरी मस्जिद पक्ष के मुख्य मुद्दई हाजी महबूब अहमद के लेटरहैड पर अंग्रेजी और हिन्दी में लिखा है कि हम अयोध्या केस को कोर्ट के बाहर आपसी भाईचारे से सुलझाना चाहते हैं, लिखा है कि हम इसे सुलझाकर देश में आपसी भाईचारा कायम करना चाहते हैं।बता दें कि इसी के नीचे हिंदी और अंग्रेजी में कई लोगों के हस्ताक्षर भी हैं, जिन्होंने इस पर अपनी राय प्रकट करते हुए कहा है कि वो सब इस ऐतिहासिक विवादित केस को अदालत से परे आपस में मिलजुलकर सुलझाना चाहते हैं।

जानकारी के लिए बता दें कि कुछ समय पहले श्री श्री रविशंकर ने इस मामले को कोर्ट के बाहर सुलझाने की अपील की थी। हालांकि तब उन्हें ज्यादा कामयाबी नहीं मिल पाई थी।Justice Ranjan Gogoi

ऐसे में अब ये देखना दिलचस्प होगा कि क्या वाकई इस पर कोई एक आम सहमति बन पाती है, या फिर ये भी महज एक असफल प्रयास बनकर रह जाता है। हालांकि ये भी निराशाजनक है कि देश की सर्वोच्च अदालत के पास देश के सबसे बड़े मुद्दे को सुनने के लिए वक्त ही नहीं है।