इतने किमी दूर से ही दिखती है स्टैच्यू… आस-पास फूलों की घाटी जैसा मनमोहक नजारा

Avatar Written by: October 29, 2018 4:03 pm

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गृह राज्य गुजरात को उम्मीद है कि लौहपुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल की दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा से राज्य में पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। गुजरात में सरदार पटेल की प्रतिमा को ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ का नाम दिया गया है। प्रधानमंत्री मोदी, सरदार पटेल की जयंती पर बुधवार को इसका उद्घाटन करेंगे।दुनिया की सबसे ऊंची (182 मीटर) ये विशाल प्रतिमा देश के पहले गृह मंत्री को श्रद्धांजलि होगी, जिन्होंने 1947 के विभाजन के बाद राजाओं-नवाबों के कब्जे वाली रियासतों को भारत संघ में मिलाने में अहम योगदान दिया था। इस परियोजना (स्टैच्यू ऑफ यूनिटी) की देखभाल कर रहे सरदार सरोवर नर्मदा निगम लिमिटेड (एसएसएनएनएल) के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक एस. एस. राठौड़ ने संवाददाताओं के एक समूह से कहा, “अभी इसकी गैलरी को अंतिम रूप दिया जा रहा है जो कि 153 मीटर ऊपर स्थित है।

पर्यटन में लगेंगे चार-चांद

उन्होंने बताया कि इस गैलरी में एक समय में करीब 200 पर्यटकों को समायोजित किया जा सकता है। यहां से सरदार सरोवर बांध और सतपुड़ा व विंध्य की पर्वत श्रृंखला तथा अन्य जगहों का दीदार किया जा सकेगा। राज्य सरकार के एक अधिकारी ने कहा कि स्टैच्यू ऑफ यूनिटी से राज्य के पर्यटन विभाग को बहुत फायदा होगा। इसके बनने से प्रतिदिन करीब 15000 पर्यटक के यहां आने की संभावना है और इससे गुजरात देश का सबसे व्यस्त पर्यटक स्थल बन सकता है।जानकारी के लिए बता दें कि स्टैच्यू के ऊपरी हिस्से में 306 मीटर पैदल पथ को पूरी तरह से मार्बल से तैयार किया गया है। इसके अलावा दिव्यांगों और वरिष्ठ नागरिकों के लिए भी पैदल पथ होगा। राठौड़ ने बताया कि प्रतिमा के पास स्थित पहाड़ियों पर फूलों को लगाया जा रहा है जिससे यहां से नजारा ‘फूलों की घाटी’ जैसा दिखेगा।बता दें कि सरदार की मूर्ति तक पहुंचने के लिए पर्यटकों के लिए पुल और बोट की व्यवस्था की जाएगी, जहां पर्यटक सरदार सरोवर बांध का नजारा देखने के साथ ही खूबसूरत वादियों का मजा ले सकेंगे।

इतनी दूर से ही नजर आती है मूर्ति

ये मूर्ति इतनी बड़ी है कि ऐसे 7 किलोमीटर की दूरी से भी देखा जा सकता है। आपको बता दें कि ‘स्टैचू ऑफ यूनिटी’ ऊंचाई में अमेरिका के ‘स्टैच्यू ऑफ लिबर्टी’ (93 मीटर) का दुगना है।

भूंकप का नहीं होगा असर

ये स्टैच्यू 180 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से चलने वाली हवा में भी स्थिर खड़ी रहेगी। ये 6.5 तीव्रता के भूकंप को भी सह सकती है। बता दें, इसके लिए मूर्ति के 3 किलोमीटर की दूरी पर एक टेंट सिटी भी बनाई गई है। जो 52 कमरों का श्रेष्ठ भारत भवन 3 स्टार होटल है, जहां आप रात भर रुक भी सकते हैं। वहीं स्टैच्यू के नीचे एक म्यूजियम भी तैयार किया गया है जहां पर सरदार पटेल की स्मृति से जुड़ी कई चीजें रखी जाएंगी। बता दें कि इसे फूलों की घाटी जैसा लुक देने की पूरी कोशिश की गई है।इन फोटो से आप समझ सकते हैं कि असल दृश्य कितना मनमोहक होगाफोटो देख आप भी वहां जाने से खुद को नहीं रोक पाएंगे

गुजराती ऐक्टर ने भी इसे सेलिब्रेट किया।

परेशभाई गजेरा ने भी सरदार की इस विशालतम प्रतिमा को लेकर खुशी जाहिर की

जल्द ही देश दुनिया के लिए इसके दरवाजे खुल जाएंगे।