योगी आदित्‍यनाथ का बड़ा ऐलान, फैजाबाद का नाम अब श्री अयोध्‍या !

Written by: November 6, 2018 6:00 pm

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अगुवाई में आज अयोध्या में ऐतिहासिक दीपोत्सव मनाया जा रहा है। कार्यक्रम में दक्षिण कोरिया की फर्स्ट लेडी किम-जुंग सुक शामिल हुई हैं। उनके स्वागत के लिए अयोध्या को खूब सजाया गया है और सड़कें एवं धरोहर इमारतें रोशनी से नहाई हुई हैं। सरयू नदी के घाट पर भगवान राम और भगवान हनुमान की मूर्ति लगाई गई है जबकि मुख्य कार्यक्रम के आयोजन स्थल के पास भव्य तोरण द्वार बनाया गया है।

Kim Jung-sook and Yogi Adityanath

योगी ने कहा कि पहले कोई मुख्यमंत्री अयोध्या नहीं आता था। मैं छह बार आ चुका हूं। अयोध्या भारत की संस्कृति और परंपरा का प्रतीक है और इसी से जुड़ने के लिए दक्षिण कोरिया की प्रथम महिला किम जोंग सुक यहां पर आई हुई हैं। मैं उनका आभार प्रकट करता हूं। इस आयोजन से भारत व दक्षिण कोरिया के संबंध मजबूत होंगे। योगी ने कहा कि प्रथम महिला ने यहां आकर साबित कर दिया है कि अपनी संस्कृति से जुड़ने के लिए भााषा कभी भी आड़े नहीं आती है।अपने संबोधन की शुरुआत में दीपावली की शुभकानाएं देते हुए योगी आदित्‍यनाथ ने कहा कि अयोध्‍या हमारी आन बान और शान का प्रतीक है। योगी आदित्‍यनाथ ने ऐलान किया कि फैजाबाद का नाम अब श्री अयोध्‍या होगा। उन्‍होंने बताया कि यहां एक मेडिकल कॉलेज का निर्माण भी हो रहा है जिसका नाम दशरथ के नाम पर होगा। साथ ही शहर में प्रस्‍तावित एयरपोर्ट का नाम भी मर्यादा पुरुषोत्तम राम के नाम पर रखने की योगी ने घोषणा की।सीएम योगी ने कहा कि दुनिया की कोई ताकत अयोध्यावासियों की भावनाओं के साथ खिलवाड़ नहीं कर सकती। एक नई परंपरा को आगे बढ़ाने की शुरुआत करेंगे, रामजी की पैड़ी को विकसित करने का काम किया जाएगा।

योगी ने बताया कि जब पहले मैं यहां आता था तो संत समाज के लोग सरयू नदी में गंदा नाला गिरने की शिकायत करते थे। जिस पर ध्यान देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नमामि गंगे योजना के तहत इस पर रोक लगा दी है। योगी बोले, अयोध्या को सुंदर व भव्य बनाने का कार्य किया जा रहा है। सरयू साफ हो रही है, घाटों का सुंदरीकरण किया जा रहा है और सड़कों को चौड़ा किया जा रहा है।

साथ ही ये भी बता दें कि लखनऊ के इकाना स्टेडियम का नाम बदलकर अब अटल बिहारी वाजपेयी इंटरनेशनल स्टेडियम कर दिया गया है, अब ये स्टेडियम इसी नाम से जाना जाएगा। उत्तर प्रदेश के राज्यपाल ने राम नाईक ने स्टेडियम के नाम बदले जाने की स्वीकृति दे दी है।