अब अयोध्या में सरयू किनारे होगी राम की 151 मीटर ऊंची तांबे की प्रतिमा

Avatar Written by: November 2, 2018 7:47 pm

नई दिल्ली। अयोध्या मामले की सुनवाई सुप्रीम कोर्ट में टलने के बाद से ही राम मंदिर को लेकर सियासी हलचल तेज हो गई है। इन सबके बीच खबर है कि योगी सरकार अयोध्या में 151 मीटर ऊंची राम की तांबे की प्रतिमा बनवाने जा रही है। इस प्रतिमा को 36 मीटर के चबूतरे पर रखा जाएगा।

Lord Rama
अयोध्या में सरयू किनारे होगी राम की 151 मीटर ऊंची तांबे की प्रतिमा

बता दें कि पिछले साल योगी सरकार ने 100 मीटर ऊंची भगवान राम की प्रतिमा लगाने की योजना का ऐलान किया था। तब ‘नव्य अयोध्या’ योजना के तहत धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए योगी सरकार ने राज्यपाल राम नाईक को प्रपोजल भी दिखाया था।

330 करोड़ रुपये तक के खर्च का अनुमान

पर्यटन विभाग की ओर से भगवान राम की प्रतिमा को लेकर मई 2018 में योजना बनाई गई थी। ‘नया अयोध्या’ योजना के तहत सरयू नदी के किनारे प्रतिमा को स्थापित किया जाएगा। इस पर 330 करोड़ रुपये तक के खर्च का अनुमान है। इसके साथ ही सरकार रामकथा गैलरी, पर्यटकों के ठहरने के स्थल, सुरक्षा की दृष्टि से सीसीटीवी कैमरा, पुलिस बूथ, आवागमन के साधन सहित अन्य नागरिक सुविधायें जैसे शौचालय तथा जल निकासी की समुचित व्यवस्था करेगी। इससे पहले यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि दिवाली पर वह बड़ी खुशखबरी लेकर अयोध्या जा रहे हैं।Lord Rama

इन प्रॉजेक्‍ट के लिए योगी आदित्यनाथ सरकार कॉर्पोरेट फंड्स जुटाने की तैयारी में है। योगी सरकार ने वाराणसी और गोरखपुर समेत यूपी के 10 शहरों के 2725 करोड़ रुपये के 86 टूरिजम प्रॉजेक्ट्स में कंपनियों को सीएसआर (कॉर्पोरेट्स सोशल रिस्पॉन्सिबिलिटी) फंड्स खर्च करने की अनुमति दे दी है। आपको बता दें कि कंपनियों को उनके नेट प्रॉफिट का 2 फीसदी हिस्सा सीएसआर फंड्स के तौर पर सामाजिक विकास के लिए खर्च करना पड़ता है।Yogi Adityanath

इन 86 प्रॉजेक्ट्स में एक 330 करोड़ रुपये की लागत से तैयार होने वाली राम की 151 मीटर ऊंची प्रतिमा है। दूसरा प्रॉजेक्ट सरयू किनारे 350 करोड़ की लागत से बनने वाली नई अयोध्या है। इसमें 7डी रामलीला, रामकथा गैलरी, रामलीला पर लाइट ऐंड साउंड शो के अलावा म्यूजिकल फाउंटेन बनाए जाने हैं। यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने पिछले साल इन प्रॉजेक्ट्स की घोषणा की थी। इसके तुरंत बाद पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने भी सैफई में कृष्ण की 50 मीटर ऊंची प्रतिमा बनवाने की घोषणा की थी।

यूपी सरकार ने इन प्रॉजेक्ट्स के लिए एक 26 पेजों की बुकलेट तैयार की है। यूपी के प्रधान सचिव (टूरिजम) अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि अभी इस बुकलेट को पब्लिश होना है कि लेकिन यह सरकार की नई टूरिजम नीति का हिस्सा है। अयोध्या के ऐसे 4 प्रॉजेक्ट्स के लिए 755 करोड़ रुपये का बजट भी दिया है। बुकलेट के मुताबिक अयोध्या भगवान राम के भक्तों के लिए गर्व का विषय है और इसमें अंतरराष्ट्रीय टूरिस्ट डेस्टिनेशन बनने की प्रबल संभावनाएं हैं।

पिछले साल योगी ने किया था ऐलान

पिछले साल योगी सरकार की ओर से अयोध्या में 100 मीटर ऊंची भगवान राम की प्रतिमा लगाने की घोषणा की गई थी है। इस संबंध में तब योगी सरकार ने एक प्रस्ताव बनाकर राज्यपाल राम नाईक को भी दिखाया। तब प्रस्ताव में बताया गया था कि अयोध्या को पर्यटन मानचित्र पर ऊभारने के लक्ष्य से सरयू तट पर भगवान राम की भव्य प्रतिमा का निर्माण पर्यटन विभाग कराएगा। इसके लिये राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण (एनजीटी) से अनापत्ति प्रमाणपत्र प्राप्त लिया जाएगा।

वहीं शुक्रवार को उत्तर प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडेय ने दावा किया कि मुख्यमंत्री के साथ बड़े संत भी हैं। निश्चित रूप से उन्होंने अयोध्या के लिए योजना बनाई है। दिवाली पर खुशखबरी का इंतजार करिए मुख्यमंत्री के हाथों वह योजना सामने आएगी कि तो उचित होगा। योगी ने यह भी कही था कि संत समाज तो धैर्य रखने वाला है, उन्हें थोड़ा और धैर्य रखने की जरूरत है। इधर राम मंदिर के मसले पर तेजी आई है आरएसएस समेत हिंदूवादी संगठनों ने आक्रामक रुख अपना लिया है।