यहां ऐसा क्या हुआ कि सीएम योगी ने कह दिया कि “आवेदन भी नहीं ले सकते और खड़े रहते हो….”

Avatar Written by: September 2, 2018 8:10 pm

नई दिल्ली/लखनऊ। यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ इन दिनों दो दिवसीय वाराणसी दौरे पर हैं। वाराणसी पीएम मोदी का संसदीय क्षेत्र होने के कारण वीआईपी इलाकों में गिना जाता है। रविवार (2 अगस्त) की सुबह मुख्यमंत्री पीएम मोदी के गोद लिए गांव डोमरी में गए और विकास योजनाओं का जायजा लिया।yogi Adityanath

दरअसल मामला ये था कि डोमरी गांव में सीएम को आवेदन देने के लिए पहुंची एक महिला को सुरक्षाकर्मियों ने पास जाने से रोका तो सीएम ने सुरक्षाकर्मियों को फटकार लगा दी।yogi Adityanath

दरअसल, जब महिला सीएम के पास पहुंची। उस वक्त वह गांव से जाने के लिए कार में बैठ चुके थे। लेकिन महिला ने कार के करीब पहुंचकर आवेदन देने की कोशिश की। इस पर सीएम की सुरक्षा में तैनात सुरक्षाकर्मियों ने महिला को करीब आने से रोक दिया। yogi Adityanathइस पर महिला को सीएम ने खुद पास में बुला लिया। सीएम ने महिला से उसकी समस्या पूछी और समाधान का भरोसा दिया। महिला के जाने के बाद सीएम ने सुरक्षा​कर्मियों को फटकार भी लगाई। उन्होंने कहा, आवेदन भी नहीं ले सकते हो, खड़े रहते हो नमूनों के रूप में।yogi Adityanath

इससे पहले सुबह पीएम के गोद लिए गांव डोमरी पहुंचे सीएम योगी आदित्यनाथ ने गांव का पैदल निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने प्राथमिक विद्यालय, स्वास्थ्य केंद्र, पुस्तकालय का भी जायजा लिया। साथ ही मंच पर जाने से पहले सीएम योगी ने बच्चों से बात की। उन्होंने बच्चों से पूछा स्कूल जाते हो या नहीं, ड्रेस मिली, कॉपी किताब मिली कि नहीं? सीएम जब बच्चों से बात कर रहे थे वहां मौजूद भीड़ ने हर हर महादेव का उद्घोष किया।

अधिकारियों पर इसलिए भी बरसे योगी आदित्यनाथ 

इससे पहले दिन में विश्वेश्वरगंज में डाक विभाग के कार्यक्रम और फिर रात में सर्किट हाउस से निकलकर विकास कार्यों का जायजा लेने पहुंचे सीएम ने देखा कि सड़कों की हालत जर्जर है। जगह-जगह गडढ़े और हिचकोले खाते जब वे पहुंचे तो उन्होंने मौके पर मौजूद सभी अधिकारियों की जमकर क्लास ली। विशेषकर लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को अंतिम चेतावनी देते हुए कहा कि हर हाल में सड़कों की मरम्मत गुणवत्तापूर्ण कराई जाए।yogi Adityanath डीएम से उन्होंने सड़क मरम्मत संबंधी रिपोर्ट भी देने की बात कही। योगी आदित्यनाथ ने शहर में विकास परियोजनाओं की धीमी प्रगति और मिल्कोपुर ब्लास्ट को नाकामी बताते हुए प्रशासनिक और पुलिस अधिकारियों को फटकार लगाई। साथ ही जिलाधिकारी को निर्देश दिया है कि वह कार्यदायी संस्थाओं की रिपोर्टिंग की जांच कराएं।yogi Adityanath

मुख्यमंत्री ने शहरी गैस वितरण परियोजना का पहला चरण पूरा होने पर वाराणसी में सीएनजी और इलेक्ट्रिक बस संचालन का निर्देश दिया। वाराणसी- सुल्तानपुर-लखनऊ नेशनल हाईवे को अगले साल फरवरी तक पूरा करने को कहा।yogi Adityanath उन्होंने बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय में बन रहे सुपर स्पेश्यलिटी अस्पताल, कैंसर संस्थान, महिला अस्पताल के मैटेरनिटी अस्पताल, राजकीय चिकित्सालय पांडेयपुर की धीमी प्रगति पर असंतोष जाहिर किया। जनवरी तक इन कामों को पूरा करने का निर्देश दिया।