राज्यसभा और लोकसभा की कार्रवाई 13वें दिन भी हंगामे के बाद दिनभर के लिए स्थगित

Written by: March 21, 2018 12:19 pm

नई दिल्ली। राज्यसभा में संसद के बजट सत्र के दूसरे हिस्से का 13वां दिन भी सदस्यों के हंगामे की भेंट चढ़ गया। वहीं लकसभा की कार्रवाई भी हंगामे के बाद पूरे दिन के लिए स्थगित कर दी गई। एक तरफ ऊपरी सदन में बुधवार को भी कार्यवाही शुरू होते ही सदस्यों का जोरदार हंगामा शुरू हो गया। हंगामे के बीच सदन की कार्यवाही दिनभर के लिए स्थगित कर दी गई।

rajya sabha

सभापति एम. वेंकैया नायडू ने जैसे ही प्रश्न काल शुरू करने की कोशिश की तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) के सदस्य हाथों में प्लेकार्ड लिए और नारेबाजी करते हुए सभापति के आसन के पास पहुंच गए। अन्नाद्रमुक और टीआरएस के सदस्यों के भारी हंगामे के कारण लोकसभा की कार्यवाही एक बार के स्थगन के बाद पूरे दिन के लिए स्थगित कर दी गई। आज भी अविश्वास प्रस्ताव को आगे नहीं बढ़ाया जा सका।

विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने हंगामे के बीच सभापति से इराक में लापता 39 भारतीयों की मौते मामले में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज द्वारा कथित तौर पर तथ्यों को छिपाने और एससी/एसटी अधिनियम के मुद्दे को लेकर चर्चा कराने की मांग की।

rajya sabha

नायडू ने आजाद को इन मुद्दों पर नोटिस देने को कहा। इसी बीच, तेदेपा सदस्यों के जारी हंगामे के बीच कांग्रेस सांसद भी सभापति के आसन के पास पहुंच गए।

rajya sabha

नायडू ने विरोध प्रदर्शन कर रहे सदस्यों से कई बार सदन की व्यवस्था बनाए रखने का आग्रह किया। लेकिन हंगामा न रुकता देख आखिरकार उन्होंने सदन की कार्यवाही दिनभर के लिए स्थगित कर दी।

बजट सत्र के दूसरे चरण में पिछले दो सप्ताह की कार्यवाही हंगामे के कारण बाधित रहने के बाद तीसरे सप्ताह में भी कोई कामकाज नहीं हो पा रहा है लोकसभा की कार्यवाही आज सुबह जैसे ही आरंभ हुई तो अन्नाद्रमुक और टीआरएस के सदस्य नारेबाजी करते हुए अध्यक्ष के आसन के निकट पहुंच गए। लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने प्रश्नकाल चलाने का प्रयास किया लेकिन हंगामा थमता नहीं देख उन्होंने सदन की कार्यवाही एक घंटे के लिए स्थगित कर दी। अन्नाद्रमुक और टीआरएस के सदस्य ‘वी वांट जस्टिस’ के नारे लगा रहे थे। टीआरएस के सदस्यों ने ‘एक राष्ट्र, एक नीति’ की मांग वाली तख्तियां ले रखी थीं।

Lok sabha
Lok sabha

आंध्र प्रदेश को विशेष राज्‍य का दर्जा नहीं दिए जाने से नाराज चल रहीं वाईएसआर कांग्रेस और तेलुगू देसम पार्टी लगातार लोकसभा में केंद्र सरकार के खिलाफ अविश्‍वास प्रस्‍ताव पेश करने की कोशिश कर रही हैं। इसको लेकर टीडीपी सांसदों ने संसद परिसर भी प्रदर्शन किया।