एफ-16 को लेकर और गंभीर हुआ यूएस, अमेरिकी विदेश विभाग ने अब दिया यह बयान

अमेरिकी विदेश विभाग के उप प्रवक्‍ता प्रवक्ता रॉबर्ट पैलाडिनो ने कहा है कि पाकिस्तान द्वारा भारत के खिलाफ एफ-16 विमानों और एमराम मिसाइल इस्तेमाल किए जाने के मामले को बहुत करीब से देख रहा है।

Avatar Written by: March 6, 2019 9:29 am

नई दिल्ली। अमेरिकी विदेश विभाग के उप प्रवक्‍ता प्रवक्ता रॉबर्ट पैलाडिनो ने कहा है कि पाकिस्तान द्वारा भारत के खिलाफ एफ-16 विमानों और एमराम मिसाइल इस्तेमाल किए जाने के मामले को बहुत करीब से देख रहा है। इससे पहले भारत ने अपने सैन्य प्रतिष्ठानों पर 27 फरवरी को हुए असफल हमले में अमेरिकी एफ-16 विमानों और एमराम मिसाइल का इस्तेमाल किए जाने के सबूत अमेरिका को सौंप दिए।

Pakistani Air Force jet F16

रॉबर्ट पैलाडिनो ने कहा, “हमने उन रिपोर्टों को देखा है और हम इस मामले को बहुत बारीकी से देख रहे हैं।”

पैलाडिनो ने कहा, “मैं किसी भी चीज की पुष्टि नहीं कर सकता। लेकिन नीतिगत तौर पर हम अन्य देशों के साथ द्विपक्षीय समझौतों की सामग्री पर सार्वजनिक रूप से टिप्पणी नहीं करते हैं। इस मुद्दे में न तो अमेरिकी रक्षा प्रौद्योगिकियों और न ही संचार के बारे में कोई टिप्पणी कर सकते हैं।”

बता दें कि पुलवामा आतंकी हमले के बाद पाकिस्‍तान में सक्रिय आतंकियों के खिलाफ हुई भारतीय वायुसेना द्वारा एयर स्‍ट्राइक किए जाने के बाद नियंत्रण रेखा में घुसे पाक के एफ-16 विमान को मार गिराया था। हालांकि, पाकिस्‍तान वायु सेना ने इसका खंडन किया था। लेकिन भारत ने एफ-16 लड़ाकू विमान के टूटे हुए कुछ हिस्‍सों के सबूत पेश किए।

भारतीय वायुसेना ने यह सिद्ध कर दिया कि पाकिस्‍तान ने भारतीय सैन्‍य ठिकानों को निशाना बनाने के लिए अपने एफ-16 लड़ाकू विमान इस्‍तेमाल किया। हालांकि, पाकिस्‍तान बार-बार इस बात को मानने से इंकार किया। उसने कहा कि इस ऑपरेशन में एफ-16 विमानों को इस्‍तेमान नहीं किया गया है।