सच परोसने का दावा करने वाली साइटें फैला रही हैं झूठी और भ्रामक खबरें

1009
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

आजकल ऐसी न्यूज साइटें मौजूद हैं जिनका दावा है कि वे तथ्य परोस रही हैं और झूठ पर से परदा उठा रही हैं। लेकिन हकीकत इससे बिल्कुल जुदा है। इन साइटों का काम सिर्फ और सिर्फ झूठ परोसना हो गया है और तथ्यों से तो दूर-दूर तक उनका कोई वास्ता नहीं है। कुछ ऐसे ही झूठ समाचार लेकर जनता के समक्ष आती हैं और फिर उपहास की पात्र बनती हैं। खुद को उदारवादी होने का दावा करने वाली यह न्यूज साइटें दरअसल​ मिथ्या उदारवादी हैं। झूठे प्रपंच के जरिए जनता के बीच भ्रम फैलाने के एजेंडे पर यह साइटें लगी रहती हैं।

मजे की बात तो यह है कि इन साइटों का दावा है कि वे सरकार के फैसलों को लेकर सच्चाई सामने लाती हैं। लेकिन पिछले दिनों ऐसे कई समाचार इन साइटों पर आए जिनसे इन दावों की हवा निकलती है। सिवाए झूठे तथ्यों और किस्से कहानियों के इन साइटों से कुछ नहीं निकला। इनका एजेंडा साफ है। सरकार या किसी भी संस्था की छवि को खराब करो बस कुछ और नहीं।

आगे ऐसी ही एक साइट के एजेंडे का पर्दाफाश

Prev1 of 4Next