गुजरात चुनाव को लेकर राहुल गांधी को बड़ा झटका!

3717
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

नई दिल्ली। गुजरात चुनाव से पहले कांग्रेस लगातार अपने ही कारनामों की वजह से हार की तरफ बढ रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चायवाला कहकर फंस चुकी कांग्रेस एक बार फिर मुसीबत में है। गुजरात में वो​टिंग से ठीक दो दिन पहले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मणिशंकर अय्यर पीएम मोदी के​ खिलाफ बदजुबानी कर बैठे हैं। मणिशंकर अय्यर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नीच और असभ्य बता दिया है।
इससे पूरे कांगेसी खेमे में बेचैनी है और गुजरात में इसके असर का आंकलन करके कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी घबराए हुए हैं। यही वजह है कि आनन फानन में मणिशंकर से माफी मांगने की बात कहकर नुकसान की भरपाई करना चाहते हैं। लेकिन अब बहुत देर हो चुकी है। संदेश गुजरात की जनता के बीच जा चुका है कि कांग्रेस किस तरह से धरतीपुत्र पीएम मोदी का लगातार अपमान करती जा रही है। कभी चायवाला कहकर तो कभी नीच कहकर लगातार पीएम मोदी का अपमान कर रही है।
जनता के बीच सवाल यह उठ रहा है कि क्या किसी गरीब बैकग्राउंड के शख्स को देश की सत्ता संभालना कांग्रेस को हजम नहीं हो रहा है। क्या सत्ता में रहना सिर्फ कांग्रेस या गांधी परिवार की ही बपौती है। इस तरह के सवाल जनता अब राहुल गांधी से पूछ रही है। इसका खामियाजा सियासी तौर पर तो अब कांग्रेस को उठाना होगा। गुजरात की जनता कांग्रेस के इस तरह से पीएम का अपमान करने से खासा खफा है। राहुल गांधी को गुजरात चुनाव में इसका नुकसान साफ नजर आ रहा होगा। पहले ही 2014 के लोकसभा चुनावों से पहले मणिशंकर अय्यर ने नरेंद्र मोदी को चाय बेचने की नसीहत देकर कांग्रेस का काफी नुकसान किया था।
यही नहीं प्रियंका गांधी वाडरा ने भी लोकसभा चुनावों के दौरान मोदी को नीचे तबके का बता दिया था। सभी ने देखा था कि कैसे पूरे देश ने पीएम मोदी को हाथोंहाथ लिया था। आज पीएम मोदी ने भी कांग्रेस नेता को जवाब करारा दिया। सूरत की एक रैली में पीएम ने साफ कह दिया कि वह निचले तबके से भले ही आते हों लेकिन काम उंचे करते हैं। यही नहीं पीएम ने मणिशंकर की बदजुबानी को पूरे गुजरात का अपमान भी करार दिया था। भाजपा ने कह भी दिया कि अब जनता मणिशंकर की बदजुबानी का बदला लेगी। ऐसे में यह संके​त साफ हैं कि गुजरात में जो कुछ भी बढत कहीं कहीं कांग्रेस ने बनाई थी वह हाथ से फिसलेगी। वोटों का नुकसान राहुल गांधी की पार्टी को जरूर होगा। चुनावी विश्लेषक मान रहे हैं कि मणिशंकर ने बैठे बिठाए कांग्रेस का गुजरात में गणित बिगाड दिया है।

 

गुजरात चुनाव से पहले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मणिशंकर अय्यर की जुबान फिसली औऱ उन्होंने प्रधानमंत्री को नीच और असभ्य तक कह डाला । इस बयान के बाद पूरे देश में उनकी आलोचना हो रही है। बीजेपी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस बयान की कड़ी नींदा की।कांग्रेस के नेता की इस हरकत पर बीजेपी के नेता तीजेंद्र बग्गा ने ट्वीट कर लिखा कि ‘2014 में प्रियंका गांधी जी ने कहा था की मोदी जी नीच हैं,इसलिए इनको राजनिती करने का अधिकार नही है और आज फिर कांग्रेस द्वारा मोदी जी की जाती को निशाना बना के उन्हें नीच कहा गया है । उस समय भी जवाब जनता ने दिया था अब भी जवाब जनता ही देगी’।वहीं स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने कहा लिखा कि ‘कांग्रेस ने प्रधानसेवक को अपशब्द कहकर देश के लोकतंत्र की आत्मा पर प्रहार किया है। दलितों के मसीहा डॉ. अम्बेडकर की सराहना पर प्रधानमंत्री का अपमान करना सारे समाज का अपमान है’।मणिशंकर अय्यर के बयान के बाद ट्विटर पर प्रतिक्रियाओं की बाढ़ आ गई।