जानिए रक्षा नारियल और इसके गुप्त प्रयोग को

आप के अपने घर मे गृह शांति और रक्षा के लिए एक विधि प्रस्तुत है जिसके द्वारा आप अपने घर पर पूजन करके नारियल बाँध सकते हैं। यह प्रयोग किसी भी शुभ तिथि पर किया जा सकता है।

आपने देखा होगा की लगभग सभी दुकानों में लाल कपडे में नारियल बांधकर लटकाया जाता है, कई घरों में भी ऐसा किया जाता है। यह स्थान देवता की पूजा और गृह रक्षा के लिए किया जाता है।

coconut

आप के अपने घर मे गृह शांति और रक्षा के लिए एक विधि प्रस्तुत है जिसके द्वारा आप अपने घर पर पूजन करके नारियल बाँध सकते हैं। यह प्रयोग किसी भी शुभ तिथि पर किया जा सकता है।

coconut 3

इसके लिए आवश्यक सामग्री

लाल कपडा सवा मीटर

नारियल

सामान्य पूजन सामग्री

यदि आर्थिक रूप से सक्षम हों तो इसके साथ रुद्राक्ष/ गोरोचन/केसर भी डाल सकते हैं।

वस्त्र/आसन- लाल रंग का हो तो पहन लें यदि न हो तो जो हो उसे पहन लें।

coconut 2

पूजन विधि-

सबसे पहले शुद्ध होकर आसन पर बैठ जाएँ। हाथ में जल लेकर कहें ” मै [अपना नाम ] अपने घर की रक्षा और शांति के लिए यह पूजन कर रहा हूँ मुझपर कृपा करें और मेरा मनोरथ सिद्ध करें।”इतना बोलकर हाथ में रखा जल जमीन पर छोड़ दें। इसे संकल्प कहते हैं। नारियल पर मौली धागा [अपने हाथ से नापकर तीन हाथ लम्बा तोड़ लें] लपेट लें। लपेटते समय निम्नलिखित मंत्र का जाप करें.” *ॐ श्री विष्णवे नमः”* अब अपने सामने लाल कपडे पर नारियल रख दें। पूजन करें लोबान का धुप या अगरबत्ती जलाएं। नारियल के सामने निम्नलिखित मंत्र का 1008 बार जाप करें ऐसा 11 दिन तक करें।

मन्त्र-

“ॐ नमो आदेश गुरून को इश्वर वाचा अजरी बजरी बाडा बज्जरी मैं बज्जरी को बाँधा, दशो दुवार छवा और के ढालों तो पलट हनुमंत वीर उसी को मारे, पहली चौकी गणपति दूजी चौकी में भैरों, तीजी चौकी में हनुमंत,चौथी चौकी देत रक्षा करन को आवे श्री नरसिंह देव जी शब्द सांचा पिंड कांचा फुरो मंत्र इश्वरी वाचा”।

coconut 1

अब इस नारियल को अन्य पूजन सामग्री के साथ लाल कपडे में लपेट ले। आपका रक्षा नारियल तैयार है। इसे आप दशहरा, दीपावली, पूर्णिमा, अमावस्या या अपनी सुविधानुसार किसी भी दिन घर की छत में हुक हो तो उसपर बांधकर लटका दें। यदि न हो तो पूजा स्थान में रख लें। नित्य पूजन के समय इसे भी अगरबत्ती दिखाएँ एवं चमत्कार देखें।