हनुमा विहारी ने रचा इतिहास, इस टूर्नामेंट में लगातार तीन शतक लगाने वाले पहले बल्लेबाज बने

भारतीय बल्लेबाज हनुमा विहारी ने ईरानी कप के मुकाबले में एक नया इतिहास रच दिया। रणजी चैंपियन विदर्भ व शेष भारत के बीच खेले जा रहे ईरानी कप के मैच में खेल के चौथे दिन हनुमा विहारी ने शतकीय पारी खेली और 180 रन पर नाबाद रहे।

Written by Newsroom Staff February 16, 2019 1:36 pm

नई दिल्ली। भारतीय बल्लेबाज हनुमा विहारी ने ईरानी कप के मुकाबले में एक नया इतिहास रच दिया। रणजी चैंपियन विदर्भ व शेष भारत के बीच खेले जा रहे ईरानी कप के मैच में खेल के चौथे दिन हनुमा विहारी ने शतकीय पारी खेली और 180 रन पर नाबाद रहे। विहारी ने मैच की पहली पारी में भी 114 रन की शतकीय पारी खेली थी। यानी उन्होंने दोनों पारियों में शतक लगाया।Hanuma Vihari

इस शतक के साथ ही वो ईरानी कप के इतिहास में लगातार तीन शतक लगाने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज बन गए हैं। इससे पहले वर्ष 2018 में भी विहारी ने ईरानी कप के मुकाबले में विदर्भ के खिलाफ 183 रन की पारी खेली थी।


हनुमा विहारी ने पिछले वर्ष इंग्लैंड के विरूद्ध भारतीय टीम के लिए टेस्ट क्रिकेट में अपना डेब्यू किया था और अब इस बार के ईरानी कप के मुकाबले की दोनों ही पारियों में उन्होंने शतक जड़ दिया। इसके साथ ही वो शिखर धवन के बाद ऐसा करने वाले दूसरे बल्लेबाज बने।Hanuma Vihari

धवन ने वर्ष 2011 में रणजी चैंपियन टीम राजस्थान के खिलाफ ऐसा किया था। धवन ने शेष भारत की तरफ से खेलते हुए उस वर्ष के रणजी चैंपियन टीम राजस्थान के खिलाफ ईरानी कप के मैच की दोनों पारियों में शतकीय पारी खेली थी।Hanuma Vihari

इस मैच में हनुमा विहारी के शानदार शतकीय पारी के दम पर शेष भारत ने पहली पारी में 330 रन बनाए थे। इसके जबाव में विदर्भ ने पहली पारी में 425 रन का स्कोर खड़ा किया था। Hanuma Vihariविहारी ने दूसरी पारी में भी शानदार खेल दिखाया और चौथे दिन का खेल खत्म होने तक 180 रन बनाकर नाबाद रहे।Hanuma Vihari

इसके बाद शेष भारत ने तीन विकेट पर 374 रन बनाकर पारी की घोषणा कर की। विहारी ने 300 गेंदों का सामना करते हुए 180 रन की पारी खेली और उनकी इस पारी में 19 चौके और चार शानदार छक्के शामिल हैं। दूसरी पारी में भी हनुमा ने अपनी टीम की तरफ से सबसे ज्यादा स्कोर बनाया।