केजरीवाल पर हमले के पीछे की “वो बात” जिस पर किसी ने नहीं किया गौर, देख आप भी चौंक जाओगे

नई दिल्ली। अरविंद केजरीवाल ने जबसे अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत की है, उन पर लगातार हमले होते रहे हैं। दिल्ली के मुख्यमंत्री बन जाने और जेड प्लस सिक्योरिटी मिल जाने के बावजूद भी केजरीवाल पर अटैक हो रहे हैं। ताजा हमला मंगलवार दिल्ली सचिवालय के अंदर ही केजरीवाल पर मिर्ची पाउडर से किया गया है, बता दें कि हमला करने वाले की पहचान अनिल कुमार हिंदुस्तानी के रूप में हुई है। लेकिन गौर करने वाली बात है कि आखिर क्यों ठीक चुनाव से पहले ही उनके साथ ऐसा होता है। सवाल ये उठाता है कि कही इन सब के पीछे उनकी साजिश तो नहीं है।

अनिल, सीएम केजरीवाल से अन्य दो लोगों के साथ मिलने पहुंचा था। जिस वक्त केजरीवाल दोपहर के भोजन के लिए जा रहे थे उन पर मिर्ची पाउडर से अटैक किया गया। जिसके बाद आरोप की राजनीति शुरू हो गई है। आम आदमी पार्टी का कहना है कि अनिल बीजेपी का कार्यकर्ता है, तो वहीं दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी ने इस घटना की कड़े शब्दों में निंदा की है।

हालांकि ये पहली बार नहीं है जब केजरीवाल पर इस तरह का कोई हिंसक हमला हुआ है। इससे पहले भी उन पर चुनाव रैली और प्रेस कांफ्रेंस के दौरान जूते, चप्पल, स्याही और अंडों से हमला हो चुका है।लखनऊ में (18 अक्टूबर 2011) को केजरीवाल पर चप्पल फेंकी गई थी। 2011 में लखनऊ में एक बैठक के दौरान टीम अन्ना के सदस्य ने अरविंद केजरीवाल पर चप्पल से हमला किया था। चप्पल फेंकने वाले शख्स का नाम जीतेंद्र था।अरविंद केजरीवाल से नाराज अन्ना हजारे के एक सपोर्टर ने 2013 में उन पर स्याही फेंककर हमला किया था। आरोपी केजरीवाल से इसलिए नाराज था क्योंकि उन्होंने अन्ना हजारे के आंदोलन को छोड़कर पार्टी बना ली।हैदराबाद में 5 मार्च 2014 को केजरीवाल की गाड़ी पर पत्थर फेंकने का मामला सामने आया था। हालांकि इसमें केजरीवाल बाल-बाल बच गए, वरना उन्हें बड़ी चोट भी आ सकती थी।

वाराणसी में लोकसभा चुनावों के दौरान 25 मार्च 2014 को केजरीवाल पर स्याही और अंडे भी फेंके गए। चुनाव प्रचार के दौरान केजरीवाल को सबसे ज्यादा विरोध पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में झेलना पड़ा था। यहां उन पर स्याही से लेकर अंडे तक फेंके गए थे।

हरियाणा में फिर इसी महीने 28 मार्च 2014 को अन्ना हजारे के एक समर्थक ने केजरीवाल को थप्पड़ मारा। चुनाव प्रचार के दौरान ही केजरीवाल को एक शख्स ने थप्पड़ भी मारा था।दिल्ली में 4 अप्रैल 2014 एक रोड शो के दौरान केजरीवाल की पीठ पर एक शख्स ने पीछे से हमला किया, हालांकि वो शख्स कामयाब नहीं हो सका था। फिर ठीक उसके चार दिन बाद दिल्ली के सुल्तानपुरी में एक ऑटो ड्राइवर ने केजरीवाल को थप्पड़ मारा। बाद में केजरीवाल उसके घर फूल भी लेकर गए थे। वह केजरीवाल से नाराज था और इसीलिए वह उसे मनाने गए थे।दो साल बाद ऑड-ईवन मामले में 9 अप्रैल 2016 को एक स्टिंग के दौरान केजरीवाल पर जूता फेंका गया । आरोपी शख्स का नाम वेद प्रकाश था। वो केजरीवाल से सीएनजी स्टिकर को पैसे लेकर बेचने वाले स्टिंग को लेकर सवाल कर रहा था। ये भी बता दें कि ये स्टिंग आम आदमी सेना की टीम ने ही किया था।जनवरी 2016 में आम आदमी सेना की सदस्य भावना अरोड़ा ने केजरीवाल पर स्याही फेंकी थी। ये वाकया तब हुआ था जब पहली बार दिल्ली में ऑड-ईवन लागू हुआ था और उसकी सफलता का जश्न मनाया जा रहा था।

Facebook Comments