सस्‍पेंस खत्म, ये है कर्नाटक में भाजपा का बहुमत के आंकड़े को छूने का गणित!

  • 7.1K
  •  
  •  
  •  
  •  
    7.1K
    Shares

बेंगलुरू। कर्नाटक विधानसभा चुनाव में 104 सीटें हासिल कर सबसे बड़ी पार्टी बनने वाली भारतीय जनता पार्टी के नेता बीएस येदियुरप्‍पा ने राज्‍यपाल से मिलकर सरकार बनाने का दावा किया है। सूत्रों के मुताबिक सरकार बनाने का आमंत्रण मिलने की स्थिति में वह 17 मई को मुख्‍यमंत्री पद की शपथ भी ले सकते हैं। 222 सीटों में से बहुमत के 112 से आठ सीटें पीछे रहने वाली बीजेपी को आखिर समर्थन कहां से मिलेगा? सबसे बड़ा सवाल यही है क्‍योंकि कांग्रेस 78 सीटें और जेडीएस 38 ने हाथ मिला लिया है और दो में से एक विधायक को उनके समर्थन में बताया जा रहा है। इस तरह कांग्रेस-जेडीएस के पास इस वक्‍त बहुमत से ज्‍यादा 117 विधायकों का आंकड़ा है।

BJP's 40 star campaigners including Modi in Karnataka elections

वही बुधवार को कांग्रेस विधायक दल की बैठक में चार विधायक नहीं पहुंचे। इसी तरह जेडीएस के दो विधायक एचडी कुमारस्‍वामी को पार्टी का नेता चुने जाने के वक्‍त नहीं दिखे। इसके अतिरिक्‍त एक निर्दलीय विधायक बीजेपी खेमे के साथ देखा गया।BS Yeddyurappa माना जा रहा है कि बीजेपी इन्‍हीं सात विधायकों के दम पर अपेक्षित बहुमत का जुगाड़ करने के मूड में हैं। यदि ये विधायक पाला बदलकर बीजेपी के पास आ जाएं तो कुल मिलाकर पार्टी के पास 111 विधायकों का समर्थन होगा फिर भी बहुमत के लिए जरूरी 112 अंकों के आंकड़े को पार्टी नहीं छू पाएगी।HD Kumaraswamyलिहाजा इस कमी को पूरा करने के लिए बीजेपी की नजर जेडीएस नेता एचडी कुमारस्‍वामी की दो सीटों पर है। सूत्रों के मुताबिक बीजेपी, राज्‍यपाल ये से आग्रह कर सकती है पार्टी को बहुमत साबित करने के लिए पर्याप्‍त समय दिया जाए और विश्‍वासमत के परीक्षण से पहले कुमारस्‍वामी जीती गई अपनी दोनों सीटों में से एक सीट से इस्‍तीफा दें। इसके चलते एक सीट कम होने के कारण बहुमत का आंकड़ा 111 तक पहुंच सकता है, जो‍कि बीजेपी के लिए मददगार होगा।

modi amit shah
 

इसके साथ ही भाजपा ने प्‍लान बी भी तैयार किया है जिसके तहत वह विश्‍वासमत परीक्षण के दौरान कांग्रेस और जेडीएस के 15 विधायक किसी तरह सदन में उपस्थित नहीं रहें। यानी वे विश्‍वास मत के दौरान गैरमौजूद रहें। इससे यह होगा कि सदन में बहुमत का अपेक्षित आंकड़ा 222 में से 15 कम हो जाएगा। स्‍पष्‍ट है कि बीजेपी के इस वक्‍त 104 विधायकों के लिहाज से यह आंकड़ा बहुमत के लिए एकदम सटीक होगा और बीजेपी अपना बहुमत साबित करने में कामयाब हो जाएगी।

Facebook Comments