जेट संकट पर उपभोक्ता शिकायत समाधान संबंधी याचिका की सुनवाई 1 मई तक टली

दिल्ली उच्च न्यायालय ने जेट एयरवेज में जारी संकट को लेकर उपभोक्ताओं की शिकायतों के त्वरित समाधान की मांग करने वाली एक याचिका पर बुधवार को सुनवाई स्थगित कर दी है। अदालत ने कहा कि इस पर अब एक मई को सुनवाई होगी। 

Written by Newsroom Staff April 24, 2019 6:01 pm

नई दिल्ली। दिल्ली उच्च न्यायालय ने जेट एयरवेज में जारी संकट को लेकर उपभोक्ताओं की शिकायतों के त्वरित समाधान की मांग करने वाली एक याचिका पर बुधवार को सुनवाई स्थगित कर दी है। अदालत ने कहा कि इस पर अब एक मई को सुनवाई होगी।

JET AIRWAYS 1
आवेदन उपभोक्ता अधिकार कार्यकर्ता बिजॉन के. मिश्रा ने दाखिल किया था, जिन्होंने इससे पहले देश की विभिन्न एयरलाइंस के किराये की अधिकतम सीमा तय करने की मांग करते हुए एक याचिका दायर की थी, जो अदालत के सामने लंबित है। याचिकाकर्ता ने सोमवार को दायर अंतरिम आवेदन में दावा किया है कि जेट एयरवेज की सेवा अचानक रद्द होने से यात्रियों पर गंभीर प्रभाव पड़ा है।

jet airways
उन्होंने अपनी याचिका में सरकार को यात्रियों के टिकट का पूरा रिफंड एक उचित मुआवजा के साथ करने अथवा यात्रियों को उनके गंतव्य के लिए वैकल्पिक यात्रा की व्यवस्था करने का निर्देश देने की मांग की है। याचिकाकर्ता की ओर से अधिवक्ता शशांक देव सुधी ने कहा कि बिना किसी पूर्व सूचना के 100 से अधिक उड़ानें रद्द कर दी गई हैं, जिससे यात्रियों को अपने पूर्व निर्धारित कार्यालय संबंधी व व्यक्तिगत जरूरी कामों के लिए दर-दर भटकना पड़ रहा है।

jet
उन्होंने कहा कि अन्य एयरलाइंस में जल्द यात्रा या सीट का विकल्प तलाशने के कारण अफरातफरी की स्थिति पैदा हो गई है।