Monday, June 18, 2018

निद्रा रहस्यपूर्ण है

निद्रा रहस्यपूर्ण है। निद्रा और जागरण के संसार भी भिन्न है। हम जागते हुए इसी दुनिया में होते हैं, इसी विश्व का लोकव्यवहार करते...

होली प्रकृति का सौन्दर्य है

होली आई। गई। होली प्रकृति का सौन्दर्य है। साधारण नहीं। अति साधारण। तब प्रकृति अपनी पूरी आभा से खिलती है। यह निरपेक्ष होकर स्वयं...

जीवन की मुख्य धारा प्राण शक्ति है

प्राण विश्वधारक दिव्यता हैं। प्राण का घनत्व ही जीवन का गाढ़ापन है। यह प्राण ही शरीर के सभी अंगों में जीवनशक्ति का संचार करता...

प्राण नहीं तो जीवन नहीं

प्राण नहीं तो जीवन नहीं। संसार प्राणमय है। वैदिक साहित्य में प्राण की प्राणवान स्तुतियां हैं। प्रश्नोपनिषद् (2.5) में कहते हैं “ये प्राण अग्नि...

सूर्य के कारण ही युग वर्ष मास और दिन-रात होते हैं

संसार कर्म क्षेत्र है। कर्म की प्रेरणा का केन्द्र इच्छा है। कर्मफल प्राप्ति की इच्छा कर्म कराती है। इच्छाएं अनंत हैं। सारी इच्छाएं पूरी...

बजट में 2019 चुनाव पर नजर, किसानों, आम आदमी को राहत

वर्ष 2019 में होने वाले आम चुनाव से पहले अपने अंतिम बजट में वित्तमंत्री अरुण जेटली ने दीर्घकालिक पूंजीगत लाभ (एलटीसीजी) कर वर्तमान के...
PM Narendra Modi

पद्मावत मामले पर चुप क्यों हैं पीएम?

हाल ही में हमने ऐसी घटनाओं को देखा जो किसी भी देश या समाज के लिए बहुत व्यथित कर देने वाली बात हो सकती...

भारत की सांस्कृतिक चेतना का केंद्र है उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश प्राचीन काल से ही एक सांस्कृतिक इकाई है। दुनिया का सबसे बड़ा काव्य महाभारत है। इसमें राष्ट्र और भारत की सांस्कृतिक चेतना...

प्रश्न हमारी मनोभूमि को किसान की तरह खोदते हैं…

उपनिषद् अनूठे हैं। आनंद का ऐसा आख्यान भारत छोड़ अन्यत्र नहीं मिलता। प्राचीन यूनानी दर्शन में बेशक उपनिषदों जैसी अभिव्यक्तियां हैं। लेकिन वे ज्ञान...

पृथ्वी का प्राण सूर्य है

ठंड को भी भारी ठंड लगी है। ईसा के नए साल की जनवरी बहुधा कोहरे का कम्बल ओढ़ कर आती है। संप्रति सर्दी ठिठकी ठिठकी...

ताजा खबरें