मुंबई-अहमदाबाद हाईस्पीड ट्रेनः केंद्र सरकार ने ठुकराई महाराष्ट्र सरकार की ये मांग

नई दिल्ली। मुंबई और अहमदाबाद के बीच चलने वाली हाईस्पीड ट्रेन को लेकर कि गई महाराष्ट्र सरकार की उस मांग को केंद्र सरकार ने ठुकरा दिया है जिसमें ये मांग की गई थी की केंद्र सरकार की महत्‍वाकांक्षी योजना के तहत चलने वाली यह ट्रेन नासिक होते हुए जाए। बता दें, यह जानकारी आईटीआई कार्यकर्ता जितेंद्र घाडगे को सूचना का अधिकार की ओर से दी गई है।

suresh prabhu, Central Minister

दरअसल तत्कालीन रेल मंत्री सुरेश प्रभु को 13 जनवरी 2016 को खत लिखकर हाईस्पीड ट्रेन नासिक के रास्ते अहमदाबाद ले जाने कि मांग महाराष्ट्र सरकार ने प्रधानमंत्री और रेल मंत्री से की थी। रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा ने इस खत का जवाब देते हुए कहा था कि महाराष्ट्र सरकार की इस मांग पर हम सोच नहीं सकते। उसके बजाय मुंबई-नागपुर हाई स्पीड ट्रेन का मार्ग नासिक के रास्ते करने पर विचार होगा।

आपको बताते चलें की मुंबई-अहमदाबाद हाईस्पीड ट्रेन के मार्ग में महाराष्ट्र के मुंबई, ठाणे, विरार, बोईसर, ये चार ही स्टेशन आते हैं। वहीं गुजरात के 8 स्टेशन इसके मार्ग पर आते हैं। हाईस्पीड ट्रेन प्रोजेक्ट के लिए गुजरात और महाराष्ट्र दोनों राज्य राशि अदा करेंगे। फिलहाल महाराष्ट्र को हाईस्पीड ट्रेन का उतना फायदा मिलता नहीं दिख रहा है। इसी कारण महाराष्ट्र सरकार ने नाशिक से मुंबई-अहमदाबाद हाईस्पीड ट्रेन ले जाने की मांग की थी।

जानें क्या है इस हाईस्पीड ट्रेन में

 

मिली जानकारी के मुताबिक किराया एसी फर्स्ट क्लॉस के किराये से डेढ़ गुना ज्यादा होगा। एक ट्रेन में 10 डिब्बे होंगे, जिसमें से एक ‘बिजनेस क्लास’ होगा। परियोजना के तहत निर्माण कार्य इस साल दिसंबर में शुरू हो सकता है क्योंकि उस वक्त तक भूमि अधिग्रहण हो जाने की उम्मीद है। मंत्रालय को परियोजना के लिए 1,415 हेक्टेयर भूमि की जरूरत होगी और इसने अधिग्रहण के लिए 10,000 करोड़ रुपये मंजूर किया है। महाराष्ट्र सरकार भूमि अधिग्रहण के लिए अधिसूचना जारी कर चुकी है।

इतनी होगी इसकी स्पीड

मुंबई से अहमदाबाद के बीच प्रस्तावित बुलेट ट्रेन में सफर करने के लिए यात्रियों को 250 से 3,000 रुपये तक का किराया देना होगा। यह किराया गंतव्य के हिसाब से अलग-अलग होगा। बुलेट ट्रेन की ‘टॉप स्पीड’ 320 किमी/ घंटा होगी। इसका परिचालन 2022 तक शुरू होने की उम्मीद है। सरकार की इस परियोजना के संभावित किराये का पहला आधिकारिक संकेत देते हुए नेशनल हाई स्पीड रेल कॉरपोरेशन लिमिटेड (NHSRCL) के प्रबंध निदेशक अचल खरे ने बताया कि किराये की यह दर मौजूदा अनुमानों और हिसाब पर आधारित है।

3000 रुपये तक का होगा किराया

उन्होंने बताया कि मुंबई और अहमदाबाद के बीच का किराया 3,000 रुपये होगा। वहीं बांद्रा- कुर्ला कॉम्पलेक्स और ठाणे के बीच किराया 250 रुपये होगा। खरे ने बताया कि एक ‘बिजनेस क्लास’ होगा और इसका किराया 3,000 रुपये अधिक रहने की संभावना है। एक अधिकारी ने बताया कि ठाणे और बांदा – कुर्ला कॉम्पलेक्स के बीच हाई स्पीड ट्रेन से यात्रा में 15 मिनट का समय लगेगा और इसका किराया 250 रुपये होगा। जबकि, ट्रैक्सी से करीब डेढ़ घंटे का समय लगता है और 650 रुपये खर्च होते हैं।

Facebook Comments