कोरोनावायरस

देश में कोरोनावायरस के संदिग्ध मरीजों की संख्या में दिन-प्रतिदिन वृद्धि हो रही है। सबसे ज्यादा मामले महाराष्ट्र, दिल्ली और तमिलनाडु से सामने आ रहे हैं।

अतिरिक्त मुख्य सचिव रोहित कुमार सिंह ने बताया कि शनिवार को दर्ज किए गए छह नए कोरोना मामलों में एक 40 वर्षीय पुरुष शामिल हैं, जो कि 20 मार्च को दुबई से जयपुर आए थे। दूसरा 48 वर्षीय व्यक्ति तबलीगी जमात का सदस्य है, और तीसरा व्यक्ति भी 48 वर्षीय है।

भारत में कोरोना पीड़ित लोगों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। रविवार सुबह स्वास्थ्य मंत्रालय के द्वारा जारी आंकड़े के मुताबिक अब तक 3374 लोग इस बीमारी से संक्रमित बताए गए हैं। इनमें 3034 लोग अभी भी इस बीमारी से संक्रमित है जबकि 266 लोगों को अस्पताल से डिस्चार्ज किया जा चुका है।

इस जांच और स्क्रीनिंग में इनके भीतर से कोरोनावायरस के कोई लक्षण नहीं मिले। इन 24873 लोगों में से 20677 लोग विदेश यात्रा से हाल ही में लौटे थे। इन्हें इस वजह से क्वारंटीन किया गया था। जबकि इनमें से 4196 लोग ऐसे हैं जो कोरोना संक्रमित मरीजों के संपर्क में आने के बाद घरों में क्वारंटीन किए गए थे।

इस वैक्सीन को चीन में सबसे बड़ी बायो-वॉरफेयर साइंटिस्ट चेन वी और उनकी टीम ने बनाया है. जिन 108 लोगों पर परीक्षण किया जा रहा था. ये सभी लोग 18 साल से लेकर 60 साल तक की उम्र के हैं।

वैज्ञानिक तथा औद्योगिक अनुसंधान परिषद (सीएसआईआर) के वैज्ञानिकों को कोविड-19 के त्वरित परीक्षण के लिए एक नई किट विकसित में बड़ी सफलता मिली है।

सीएम हाउस में हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस में दिग्विजय सिंह, कांग्रेस के सभी विधायक और प्रदेश के वरिष्ठ अधिकारियों समेत करीब 200 पत्रकार मौजूद थे।

पलवल के मुख्य चिकित्सा अधिकारी ब्रह्मदीप सिंह ने मीडिया से कहा, "जमात से आए कुल 88 लोगों के नमूनों की जांच की गई, जिनमें से 13 के कोविड-19 से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है।"

इन सबके बीच केरल के कोट्टायम में एक युगल 93 वर्षीय थॉमस और 88 वर्षीय थ्रेस्यम्मा, जो COVID19 पॉजिटिव थे, उन्हें ठीक होने के बाद आज मेडिकल कॉलेज कोट्टायम से छुट्टी दे दी गई।