इस नवरात्रि करें देवी मां को प्रसन्न, अपनी राशि अनुसार करें रंग का प्रयोग

10 अक्टूबर 2018 से शारदीय नवरात्रि शुरू हो गई है और 19 अक्टूबर 2018 को दशहरा मनेगा। नवरात्रि में रंगों का बहुत महत्व होता है। नवरात्रि के नौ दिनों में मां दुर्गा के नौ रूपों की पूजा की जाती है।

ज्योतिर्विद पण्डित दयानन्द शास्त्री ने बताया कि मां दुर्गा की विशेष कृपा पाने और अपने जीवन को सुख और समृद्धि से भरने के लिए श्रद्धालु नवरात्रि के दिनों में कई उपाय कर सकते हैं। जी हां, हिंदू ज्‍योतिष के अनुसार नवरात्रि में राशि के अनुसार उपयोगी (लाभकारी) रंग का उपयोग करके आप अपने जीवन से दरिद्रता को दूर कर उसे खुशहाल बना सकते हैं।

नौ दवियों की पूजा के अनुसार हर दिन का एक खास रंग होता है। जो लोग इस दौरान माता जी के दिन के हिसाब से विशेष रंग के कपड़े पहनते हैं। उसको विशेष लाभ मिलता है। पण्डित दयानन्द शास्त्री के अनुसार नवरात्रि के नौ दिनों में नौ रंगों के कपड़े पहनने और मां के नौ रूपों की पूजा करने से व्यक्ति की मनोकामना पूरी हो सकती है। नवरात्रि में मां के नौ स्वरूपों की अराधना की जाती है। मां के नौ स्वरूपों में नौ रंगों का बड़ा महत्व है, यह 9 रंग देवी के प्रकृति स्वरूप को दर्शाते हैं और नवग्रहों का प्रतिनिधित्व करते हैं। पण्डित दयानन्द शास्त्री के अनुसार इन नौ रंगों का ज्योतिष शास्त्रों में काफी महत्व बताया गया है। कहा जाता है नवरात्र के 9 दिनों में इन अलग-अलग रंगों के कपड़े पहनने से घर में सुख-समृद्धि आती है।

आइए जानते हैं दिन के हिसाब से नवरात्र में किस रंग के कपड़े पहनें

10 अक्टूबर

इस दिन पीले रंग के कपड़े पहनना शुभ है।मां के पहले स्वरूप का नाम है शैलपुत्री। पर्वतराज हिमालय की पुत्री पार्वती के स्वरूप में मां शैलपुत्री की पूजा देवी के मण्डपों में प्रथम नवरात्र के दिन होती है। भगवती का वाहन बैल है। इस दिन आप पीले रंग के वस्त्र धारण कर सकते हैं। बुधवार से नवरात्र आरंभ होने के कारण हरे वस्त्र भी धारण कर सकते हैं।

11 अक्टूबर

इस दिन हरे रंग के कपड़े से नौकरी और बिजनेस में विशेष लाभ मिलता है।मां के दूसरे स्वरूप का नाम है ब्रह्राचारिणी। नारदजी के कहने पर माता पार्वती ने भगवान महादेव को पति के रूप में पाने के लिए कठोर तपस्या की। इस कारण ही तपश्चारिणी या ब्रह्मचारिणी पड़ा। नवरात्र का दूसरा दिन गुरुवार है और देवी का स्वरूप ब्रह्मचारिणी का है इसलिए पीला, गेरुआ वस्त्र भी धारण किया जा सकता है।

12 अक्टूबर

इस दिन ग्रे रंग का उपयोग ज्यादा करें। इसी रंग के कपड़े पहनने से माता कुष्मांडा प्रसन्न होती है।मां के तीसरे स्वरूप का नाम है चंद्रघंटा। देवी का यह तीसरा स्वरूप ज्ञान का भंडार है। माना जाता है कि देवी के इस स्वरूप की पूजा करने से मन में अलौकिक शक्ति प्राप्त होती है। इस दिन आप सफेद रंग के कपड़े पहनें।

13 अक्टूबर

स्कंदमाता को खुश करने के लिए आपको नारंगी रंग के कपड़े पहनने चाहिए। भगवती मां के चौथे स्वरूप का नाम है कूष्माण्डा। देवी का यह चौथे स्वरूप ने अंड रूप में ब्रह्मांड की रचना की। मान्यता है कि इनके तेज के कारण सभी व्याधियां यानी बिमारियां नष्ट हो जाती हैं। इस दिन आप नारंगी रंग को पहन सकते हैं। मां दुर्गा के इस स्वरूप को नारंगी रंग बहुत प्रिय है।

14 अक्टूबर

सफेद कपड़े पहने से शांति मिलेगी और मां सरस्वती की कृपा मिलेगी। मां के पांचवे स्वरूप का नाम है स्कंदमाता। आदिशक्ति का यह स्वरूप सूर्यमंडल की अधिष्ठात्री देवी हैं। इनकी पूजा करने से मोक्ष के दरवाजे खुल जाते हैं और जीवन में सुख-शांति बनी रहती है। भक्तों को इस दिन सफेद रंग के कपड़े पहनना शुभ बताया गया है।

15 अक्टूबर

मां कात्यायनी की कृपा पाने के लिए लाल रंग के कपड़े पहनना शुभ माना जाता है।मां के छठा रूप है कात्यानी। महर्षि कात्यायन की कठीन तपस्या से प्रसन्न होकर, मां ने उनके यहां पुत्री के रूप में जन्म लिया। महर्षि कात्यायन ने सबसे पहले इनकी पूजा की थी इसलिए इनका नाम कात्यानी हो गया। इस दिन मां की पूजा के लिए लाल रंग के कपड़े पहनें। मां के आशीर्वाद से लाल रंग बहुत शुभ माना जाता हें।

16 अक्टूबर

नीले रंग के कपड़े पहनना शुभ है। इस रंग के कपड़े पहनने से मां कालरात्रि प्रसन्न होती है।भगवती मां का सातवां स्वरूप है कालरात्रि। देवी का यह रूप ऋद्धि सिद्धि प्रदान करने वाला है। तांत्रिक क्रिया की साधना करने वाले भक्तों के लिए अति महत्वपूर्ण होता है। मां के इस स्वरूप की पूजा नीले रंग के कपड़े पहनकर करें।

17 अक्टूबर

महागौरी को प्रसन्न करने के लिए गुलाबी रंग के कपड़े पहनकर पूजा करना शुभ है।मां का आठवां स्वरूप है महागौरी। माता की पूजा करते समय गुलाबी रंग के कपड़े पहनने चाहिए। भगवती मां गृहस्थ आश्रम की देवी हैं और गुलाबी रंग प्रेम का प्रतीक है। यह रंग पूरे परिवार को एक करके रखता है। इसलिए इस गुलाबी रंग के कपड़े पहनना चाहिए।

18 अक्टूबर

इस दिन बैंगनी रंग पहनना आपके लिए शुभ रहेगा। इस दिन इस रंग के कपड़े पहनकर मां दुर्गा की पूजा करें। मां के नौवें दिन माता सिद्धिदात्री की पूजा की जाती है। माना जाता है कि भगवान भोलेनाथ ने माता पार्वती की तपस्या से प्रसन्न होकर अष्टसिद्धियां प्राप्त की थीं। इस दिन जामुनी रंग के कपड़े पहनकर माता को प्रसन्न कर सकते हैं।

 

Facebook Comments