बॉलीवुड के मशहूर एडिटर संजीब कुमार दत्ता का निधन

संजीब ने 80 से ज्यादा हिंदी और बंगाली फिल्मों की एडिटिंग की है। दत्ता को उनकी बेहतरीन क्रिएटिव एडिटिंग के लिए जाना जाता है। उन्होंने कुंदन शाह, श्रीराम राघवन और प्रदीप सरकार जैसे फिल्ममेकर्स के साथ काम किया था।

Avatar Written by: September 16, 2019 10:57 am

नई दिल्ली। बॉलीवुड के मशहूर फिल्म एडिटर संजीब कुमार दत्ता का रविवार को लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया।  उन्होंने बॉलीवुड के कई फिल्मों में काम किया था। उन्होंने एक स्वतंत्र एडिटर के तौर पर हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में भी अपनी विशेष पहचान और जगह बनाई।

sanjiv

संजीब ने दौर, मर्दानी, इकबाल और एक हसीना थी जैसी फिल्मों के लिए काम किया था। संजीब 54 वर्ष के थे और पिछले कुछ वक्त से कोलकाता में रह रहे थे। उन्होंने रविवार दोपहर कोलकाता के एक अस्पताल में अपनी अंतिम सांस ली। उन्हें दिल संबंधी दिक्कतें थीं। फिल्ममेकर नागेश कुकुनूर की तकरीबन हर फिल्म में संजीब ने काम किया था।

sanjiv editor

नागेश फिलहाल कनाडा में हैं और उन्होंने संजीब के निधन की पुष्टि की है। नागेश ने समाचार एजेंसी पीटीआई से बातचीत में कहा, “मुझे बताया गया है कि वह एक बायपास सर्जरी के लिए गए थे लेकिन फिर कभी नहीं लौटे। मैं और जानकारी इकट्ठा कर रहा हूं। वह रेणु सलुजा स्कूल के अंतिम व्यक्ति थे। जिस तरह उन्होंने उनके नाम को आगे बढ़ाया था उस तरह किसी ने भी नहीं बढ़ाया। जब रेणु का निधन हुआ तब वह बॉलीवुड कॉलिंग की एडिटिंग कर रही थीं।”


संजीब ने 80 से ज्यादा हिंदी और बंगाली फिल्मों की एडिटिंग की है। दत्ता को उनकी बेहतरीन क्रिएटिव एडिटिंग के लिए जाना जाता है। उन्होंने कुंदन शाह, श्रीराम राघवन और प्रदीप सरकार जैसे फिल्ममेकर्स के साथ काम किया था। उन्हें फिल्म ‘एक हसीना थी’ की एडिटिंग के लिए कई पुरस्कार भी मिले थे। उन्होंने साल 1990 में फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (FTII) में एडिटिंग का कोर्स किया और उसके बाद फिल्मी जगत से जुड़ गए। स्क्रीन राइटर-एडिटर अपूर्व असरानी जिन्होंने तस्वीर 8×10 और आशाएं में काम किया उन्होंने ट्वीट करके संजीब को याद किया और उन्हें एक परिपक्व क्राफ्टमैन और अभूतपूर्व जेंटलमैन बताया।

असरानी ने अपने ट्वीट में लिखा, “संजीब दत्ता के निधन की खबर सुनकर बहुत दुख हुआ। वह एक बहुत कमाल के एडिटर थे जिनका काम नागेश कुकुनूर की फिल्मों को नए आयाम दिया करता था। संजीब और मैंने आशाएं और तस्वीर 8×10 में एडिटिंग क्रेडिट शेयर किए। ” फिल्ममेकर सुजॉय घोष ने ट्वीट किया, “हमारे सबसे बेहतरीन एडिटर्स में से एक संजीब दत्ता। भालो ठकिस काका…. बहुत याद आओगे।”

Support Newsroompost
Support Newsroompost