‘पीएम नरेंद्र मोदी’ की रिलीज पर रोक लगाने से दिल्ली हाईकोर्ट ने किया इंकार

दिल्ली हाईकोर्ट ने लोकसभा चुनाव के नतीजे आने तक पीएम नरेंद्र मोदी की रिलीज पर स्टे देने से मना कर दिया। वहीं चीफ जस्टिस राजेन्द्र मेनन और जस्टिस अनूप जयराम भम्भानी की बेंच ने सुनवाई में याचिका को खारिज कर दिया।

Written by Newsroom Staff April 1, 2019 3:06 pm

नई दिल्ली। दिल्ली हाई कोर्ट ने लोकसभा चुनाव से पहले आदर्श आचार संहिता की अवधि के दौरान फिल्म ‘पीएम नरेंद्र मोदी’ की रिलीज पर रोक लगाने की जनहित याचिका खारिज कर दी। दरअसल विपक्ष इस फिल्म के रिलीज़ को लेकर आपत्ति जाता रहा है। विपक्ष का आरोप है कि इस लोकसभा चुनाव के चलते भाजपा फिल्म के माध्यम से राजनीतिक फायदा उठाना चाहती है

delhi highcourt

लेकिन, दिल्ली हाईकोर्ट ने लोकसभा चुनाव के नतीजे आने तक पीएम नरेंद्र मोदी की रिलीज पर स्टे देने से मना कर दिया। वहीं चीफ जस्टिस राजेन्द्र मेनन और जस्टिस अनूप जयराम भम्भानी की बेंच ने सुनवाई में याचिका को खारिज कर दिया। याचिका में 17वें आम चुनाव के दौरान फिल्म की रिलीज होने की स्थिति में आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन की बात कहते हुए फिल्म पर नतीजे आने तक बैन लगाने की मांग की गई थी। फिल्म में विवेक ओबेरॉय, नरेंद्र मोदी की भूमिका निभा रहे हैं।

विरोधी पार्टियां लगातार फिल्म पर आम चुनावों तक रोक लगाने की मांग कर रहे हैं। जिसके बाद 28 मार्च को फिल्म में मुख्य किरदार निभा रहे अभिनेता विवेक ओबरॉय और निर्माता संदीप सिंह चुनाव आयोग के दफ्तर पहुंचे थे। फिल्म को लेकर चुनाव आयोग ने फिल्म निर्माताओं को पहले से ही नोटिस जारी किया हुआ है। जिसपर जवाब देने के लिए 30 मार्च तक का समय दिया गया था।

pm modi biopicमाना जा रहा है कि चुनाव से कुछ दिन पहले एक राजनेता के जीवन पर आधारित फिल्म के प्रदर्शन से मतदाताओं को किसी पार्टी विशेष की तरफ आकृष्ट किया जा सकता है, जिसे केबल नेटवर्क अधिनियम का उल्लंघन माना गया है। इसके तहत कोई भी प्रिंट मीडिया, जिनके वेब न्यूज पोर्टल भी हैं, बगैर चुनाव आयोग से अनुमति लिए ऐसा संदेश प्रसारित या प्रकाशित किया जाता है तो उन पर आचार संहिता उल्लंघन की कार्रवाई हो सकती है।

आपको बता दें, इससे पहले फिल्म के प्रोड्यूसर को चुनाव आयोग ने नोटिस भेजा था। आयोग ने पीएम नरेंद्र मोदी फिल्म के निर्माताओं के अलावा म्यूजिक कंपनी और दो अखबारों को नोटिस भेजकर जवाब मांगा है। कांग्रेस ने आयोग को जो शिकायत की थी उसमें पीएम नरेंद्र मोदी को 19 मई के बाद रिलीज किए जाने की मांग की गई है। कांग्रेस समेत कुछ पार्टियों ने चुनाव आयोग में फिल्म के खिलाफ शिकायत की थी। अब चुनाव आयोग ने इसी के तहत फिल्म के प्रोड्यूसर से जवाब मांगा गया है।

विपक्षी पार्टियों की मांग

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जीवन पर बनी फिल्म ‘पीएम नरेंद्र मोदी’ को लेकर विपक्षी पार्टियों की मांग है कि फिल्म रिलीज को चुनाव तक टाल दिया जाए। विपक्षी पार्टियों ने चुनाव आयोग में शिकायत की है कि लोकसभा चुनाव 2019 से ठीक पहले 5 अप्रैल को पीएम नरेंद्र मोदी की रिलीज से आर्दश आचार संहिता का उल्लंघन होगा। पिछले दिनों कांग्रेस के एक प्रतिनिधिमंडल ने आयोग में जाकर लिखित शिकायत की थी और फिल्म की रिलीज पर चुनाव तक बैन लगाने की मांग की थी। बता दें कि फिल्म रिलीज़ होने की तारीख 5 अप्रैल है और पहले चरण के लिए 11 अप्रैल को मतदान होना है।