बाढ़ में फंसी बिहार की स्वर कोकिला शारदा सिन्हा, मदद के लिए सोशल मीडिया के जरिए लगाई गुहार

बिहार का नाम दुनियाभर में रौशन करने वाली पद्मभूषण शारदा सिन्हा तक को मदद नहीं मिल पा रही है। उन्हें भी सोशल मीडिया के जरिए मदद मांगनी पड़ रही है। उन्होंने लिखा है कि राजेंद्र नगर में अपने घर में पानी में फंसी हुई हूं। मदद नहीं मिल पा रही है।

Written by: September 30, 2019 3:54 pm

नई दिल्ली। बिहार की स्वर कोकिला के नाम से पहचानी जाने वाली मशहूर लोकगायिका और पद्मभूषण से सम्मानित शारदा सिन्हा इन दिनों मुसीबत में आ गईं है। जी हां, जहां एक ओर पूरा पटना शहर बाढ़ की चपेट में आ गया है तो वहीं बिहार की शान शारदा सिन्हा भी इससे अछूती नहीं है। हाल कुछ ऐसा हो गया है कि शारदा सिन्हा को मदद के लिए सोशल मीडिया का सहारा लेना पड़ गया है।

sharda sinha

दरअसल, पटना के कई इलाके बाढ़ की चपेट में आ गए है जिसमें राजेंद्र नगर में हालात कुछ ज्यादा गंभीर है। शारदा सिन्हा का घर भी राजेंद्र नगर में स्थित है और घर पूरे तरीके से बाढ़ की चपेट में आ गया है। शारदा सिन्हा ने सोशल मीडिया पर अपना दर्द बयां किया है। बिहार का नाम दुनियाभर में रौशन करने वाली पद्मभूषण शारदा सिन्हा तक को मदद नहीं मिल पा रही है। उन्हें भी सोशल मीडिया के जरिए मदद मांगनी पड़ रही है। उन्होंने लिखा है कि राजेंद्र नगर में अपने घर में पानी में फंसी हुई हूं। मदद नहीं मिल पा रही है।

sharda sinha tweet

एनडीआरएफ की राफ्ट तक भी पहुंचना असंभव है। पानी से बदबू आ रही है। काश भारत में भी एयरलिफ्ट की सुविधा होती। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रविवार को कहा था कि प्राकृतिक आपदा पर किसी का नियंत्रण नहीं है। वहीं केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद आज पटना पहुंचे हैं और स्थिति का जायजा ले रहें है।

sharda sinha 2

बिहार में आई बाढ़ ने करीब 13 जिलों में स्थिति खराब कर दी है। पटना के अलावा मुजफ्फरपुर, हाजीपुर, बेगूसराय, शेखपुरा, चंपारण, जैसे जिलों में भी बाढ़ से लोगों की जान आफत में आई हुई है। वहीं, बिहार की राजधानी पटना के इंतजामों की भी पोल भारी बारिश ने खोल दी है। पटना में ड्रेनेज सिस्टम की कितनी खस्ताहालत है इसका अंदाजा शहर के हर इलाकों में लगा जलजमाव बता सकता है। लोगों के घरों में, अस्पतालों में, दफ्तरों में हर जगह पानी ही पानी है। बिजली गुल है, पीने का पानी नहीं है।

patna rain

रविवार को भी सोशल मीडिया पर लोग पटना की भयावह हालत की तस्वीरें साझा करते रहे। वहीं दूसरी तरफ बिहार के सुशासन बाबू का प्रशासन गाल बजा रहा है।


बिहार की राजधानी पटना में ज्यादातर सड़कें और चौराहे पानी में डूब गए हैं। अस्पतालों से लेकर घरों तक में पानी घुस गया है, जिससे लोगों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। एनडीआरफ की 19 टीमें पटना में तैनात की गई हैं। टीमें पटना को 6 भागों में बांटकर रेस्क्यू ऑपरेशन चला रही हैं।

patna rain 1

बाढ़ के हालात को देखते हुए बिहार के 14 जिलों में प्रशासन की ओर से रेड अलर्ट जारी किया गया है। इनमें पटना, भागलपुर, बेगुसराय, अररिया, किशनगंज, बांका, सहरसा, पूर्णिया, खगड़िया, कटिहार, मधेपुरा, वैशाली, सुपौल, भोजपुर, नालंदा आदि जिले शामिल हैं। उत्तर बिहार और पूर्व बिहार में बारिश विकराल रूप ले चुकी है और स्थिति बिगड़ती ही जा रही है। सबसे बुरा हाल राजधानी पटना का है, जहां पर आम सड़क से लेकर गलियों, नुक्कड़ो, चौक-चौराहों तक जलजमाव की भयावह स्थिति उत्पन्न हो गई है।