गुजरात में होने वाले राज्यसभा चुनाव से ठीक पहले ये कांग्रेसी उम्मीदवार…

  • 3K
  •  
  •  
  •  
  •  
    3K
    Shares

नई दिल्ली। कांग्रेस के गुजरात राज्य सभा सीट के उम्मीदवार नारंग भाई राठवा पर दस्तावेज में गड़बडी को लेकर आरोप लग गए हैं। भारतीय जनता पार्टी ने आरोेप लगाया है कि कांग्रेस नेता ने राज्यसभा चुनाव से पहले कागजात को लेकर फर्जीवाड़ा किया है।

मामला आरोप तक ही सीमित नहीं है। राठवा की मुसीबत तो उस समय और बढ गई जब लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने दिल्ली पुलिस को इस मामले के जांच के आदेश दे दिए। लोकसभा स्पीकर ने गुजरात राज्य सभा सीट के कांग्रेस उम्मीदवार नारंग भाई राठवा के नामांकन के जांच के आदेश दिये हैं।

दरअसल गुजरात बीजेपी ने कांग्रेस के राज्यसभा उम्मीदवार नारनभाई जे राठवा के नामांकन पर आपत्ति जताई है। बीजेपी का दावा है कि नारंग भाई राठवा ने संसद से म​हज 45 मिनट में 7 विभागों से राज्यसभा नामांकन के लिए नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट ले लिया। ऐसे में भाजपा ने आरोप लगाया है कि राठवा ने कागजात का फर्जीवाडा किया है। भाजपा ने जांच और राठवा का नामांकन रद करने की मांग की है।

वहीं अब बीजेपी का प्रतिनिधिमंडल इस मुद्दे को लेकर चुनाव आयोग पहुंच गया है।

बता दें कल ही गुजरात कांग्रेस ने गुजरात से पार्टी के उम्मीदवार नरेनभाई राठवा के पेपर अधूरे होने की खबरों का खंडन करते हुए कहा है कि पार्टी की ओर से राठवा ही पर्चा दाखिल करेंगे।

कांग्रेस नेता शक्ति सिंह गोहिल ने कहा था कि राठवा के पास नो ड्यूज सर्टिफिकेट मौजूद है और उनकी उम्मीदवारी पर कोई संकट नहीं है। बता दें कि इससे पहले ऐसी खबरें आई थीं कि पेपर पूरे न होने के कारण राजीव शुक्ला पार्टी की ओर से पर्चा दाखिल कर सकते हैं।जानकारी के अनुसार, भाजपा के आरोपों के मद्देनजर चुनाव आयोग भी अपने स्तर पर जांच करा सकता है ताकि यह पता लगाया जा सके कि राठवा की तरफ से जमा किए गए अनापत्ति प्रमाण पत्र फर्जी तो नहीं है।

Facebook Comments