भाजपा में शामिल TDP के चार सांसदों में से 2 पर चल रही है CBI और ED की जांच

दोनों अपनी सफाई में कहते हैं कि वह निर्दोष हैं और उन्होंने कुछ भी गलत नहीं किया है। बता दें कि पिछले साल नवंबर में भाजपा सासंद और प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा राव ने चौधरी और रमेश को आंध्र प्रदेश के माल्या कहा था।

Written by: June 21, 2019 3:56 pm

नई दिल्ली। आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और तेलगु देशम पार्टी(TDP) के अध्यक्ष एन चंद्रबाबू नायडू को उस वक्त बड़ा झटका लगा जब उनकी ही पार्टी से चार राज्यसभा सदस्यों ने इस्तीफा देकर भारतीय जनता पार्टी को ज्वाइन कर लिया। जिन सदस्यों ने भाजपा का दामन थामा उनमें तो दो ऐसे हैं जिनपर आयकर विभाग, ED और सीबीआई की जांच चल रही है।

जिन चार सांसदों ने टीडीपी छोड़ी उनमें राज्यसभा सांसद टीजी वेंकटेश, वाईएस चौधरी, जीएम राव और सीएम रमेश शामिल हैं। इन चारों में सीएम रमेश और वाईएस चौधरी पेशे से उद्यमी हैं और इनपर इनकम टैक्स ED से लेकर सीबीआई की जांच चल रही है।

बता दें कि सीएम रमेश का नाम पिछले साल सीबीआई के तत्कालीन निदेशक आलोक वर्मा और विशेष निदेशक राकेश अस्थाना के बीच उपजे विवाद में आया था। उनकी कंपनी के खिलाफ आयकर विभाग की जांच चल रही है। वहीं चौधरी भी बैंक से लिए कर्ज की धोखाधड़ी के आरोप में सीबीआई और ईडी के रडार पर हैं।

हालांकि दोनों अपनी सफाई में कहते हैं कि वह निर्दोष हैं और उन्होंने कुछ भी गलत नहीं किया है। बता दें कि पिछले साल नवंबर में भाजपा सासंद और प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा राव ने चौधरी और रमेश को आंध्र प्रदेश के माल्या कहा था, और राज्यसभा की नैतिकता समिति को उनके खिलाफ उपयुक्त कार्रवाई करने की मांग की थी।