पाकिस्तान पर भारत की सीमा से अरबों टिड्डियों का अनोखा हमला, चट कर सकतीं हैं सारा अनाज, हड़कंप

पाकिस्तान इस वक्त एक अनोखे हमले की चपेट में है। यह हमला राजस्थान की ओर से हुआ है। मगर इस हमले का उसके पास कोई जवाब नहीं है। राजस्थान की सीमा पर टिड्डियां पालना पाकिस्तान को भारी पड़ गया है।

Written by: November 21, 2019 7:03 pm

नई दिल्ली। पाकिस्तान इस वक्त एक अनोखे हमले की चपेट में है। यह हमला राजस्थान की ओर से हुआ है। मगर इस हमले का उसके पास कोई जवाब नहीं है। राजस्थान की सीमा पर टिड्डियां पालना पाकिस्तान को भारी पड़ गया है।राजस्थान की तरफ से पाकिस्तान में अरबों टिड्डियां प्रवेश कर चुकी हैं और अब वहां के खेतों का सारा अनाज उनके निशाने पर है।

Pak

जोधपुर, जैसलमेर, बीकानेर और बाड़मेर बॉर्डर के समीप थार, नारा व चोलिस्तान रेगिस्तान में टिड्डियां पालना अब पाकिस्तान को भारी पड़ गया है। हवा की दिशा उत्तरी-पूर्वी होते ही उसके लिए आफत आ गयी। ऐसे में करोड़ों टिड्डियां सिंध प्रांत पहुंच गई। सिंध की राजधानी कराची में टिड्डी के बादल नजर आ रहे हैं। सिंध के मंत्री मोहम्मद इस्माइल को यहां तक कहना पड़ गया कि पाक के लोगो को अब कढ़ाई चिकन की जगह कढाई टिड्डी बनाकर खाना चाहिए।

border

पाकिस्तान के शहरों में बलूचिस्तजान के तटीय इलाकों से भी टिड्डी पहुंचना जारी है। पाकिस्तान इस टिड्डी को नियंत्रित नहीं कर सका है। जबकि भारत ने केवल चार पहिया वाहनों से ही टिड्डी नागौर से आगे बढऩे नहीं दी। पाकिस्तान बॉर्डर से जैसलमेर, बाड़मेर और बीकानेर में भी बड़े टिड्डी दल लगातार आ रहे हैं लेकिन भारत की पुख्ता तैयारी के आगे टिड्डी को थार में ही जमींदोज किया जा रहा है।

punjab-border

कराची में टिड्डी के तूफान के समय वहां कायदे आजम ट्रॉफी मैच के तहत सिंध प्रांत और उत्तर प्रांत के मध्य क्रिकेट मैच चल रहा था। टिड्डी मैदान में घुसने से मैच रोकना पड़ा। गौरतलब है कि टिड्डी के एक दल में एक लाख से 1 अरब तक टिड्डी हो सकती है जो एक दिन में 200 टन अनाज चट कर सकती है। एक दिन में टिड्डी दल 150 किलोमीटर की दूरी तय करती है।