समझौता एक्सप्रेस के बाद पाक ने अब दिल्ली-लाहौर मेत्री बस सेवा भी रोकी

भारत-पाक के बीच चलने वाली समझौता एक्सप्रेस को रोक दिया। अब पाकिस्तान ने एक और ओछी हरकत करते हुए दिल्ली-लाहौर के बीच चलने वाली मेत्री बस सेवा को भी रोक दिया है।

Written by: August 10, 2019 1:50 pm

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के बाद से पड़ोसी देश पाकिस्तान लगातार ऐसी हरकते कर रहा है जिससे उसे मुंह की खानी पड़ रही है। पहले भारत के साथ व्यापारिक और राजनयिक संबंध घटाया, फिर भारत-पाक के बीच चलने वाली समझौता एक्सप्रेस को रोक दिया। अब पाकिस्तान ने एक और ओछी हरकत करते हुए दिल्ली-लाहौर के बीच चलने वाली मेत्री बस सेवा को भी रोक दिया है।

metri bus

यह बस सेवा फरवरी 1999 में शुरू हुई थी लेकिन 2001 में संसद हमले के बाद यह निलंबित कर दी गई। फिर जुलाई 2003 को इस बस सेवा को बहाल किया गया। पाकिस्तान के संचार एवं डाक सेवा मंत्री मुराद सईद ने बताया कि राष्ट्रीय सुरक्षा समिति (एनएससी) की बुधवार को हुई बैठक में लिए गए फैसलों के अनुरूप ही यह कदम उठाया गया।

metri bus 1

सईद ने शुक्रवार को ट्वीट किया, ‘‘एनएससी के फैसलों के अनुसार पाकिस्तान-भारत बस सेवा निलंबित कर दी गई है।” लाहौर-दिल्ली बस सेवा दिल्ली गेट के समीप अंबेडकर स्टेडियम टर्मिनल से चलती है। डीटीसी की बसें हर सोमवार, बुधवार और शुक्रवार को और पाकिस्तान पर्यटन विकास प्राधिकरण (पीटीडीसी) की बसें हर मंगलवार, बृहस्पतिवार और शनिवार को दिल्ली से लाहौर रवाना होती हैं। वापसी में डीटीसी की बसें हर मंगलवार, बृहस्पतिवार और शनिवार को लाहौर से रवाना होती हैं जबकि पीटीडीसी की बसें हर सोमवार, बुधवार और शुक्रवार को दिल्ली के लिए रवाना होती हैं।

metri bus 2

इससे पहले पाकिस्तान के रेल मंत्री शेख राशिद अहमद ने शुक्रवार को घोषणा की कि वह राजस्थान से सटी सीमा के जरिए दोनों देशों के बीच चलने वाली थार एक्सप्रेस ट्रेन सेवा को निलंबित कर रहे हैं। इससे एक दिन पहले पाकिस्तान ने द्विपक्षीय संबंधों का दर्जा कम करने के फैसले के बाद समझौता एक्सप्रेस को भी निलंबित कर दिया था। आधिकारिक ‘एपीपी’ समाचार एजेंसी ने बताया कि राशिद ने थार एक्सप्रेस की सेवाओं को निलंबित करने की घोषणा की।

metri bus 3

थार एक्सप्रेस 18 फरवरी 2006 से जोधपुर के भगत की कोठी स्टेशन से कराची के बीच हर शुक्रवार रात को चलती है। उससे पहले यह सेवा 41 वर्षों तक स्थगित रही थी। उन्होंने बताया कि थार एक्सप्रेस के लिए 13 अरब रुपये की लागत से 133 किलोमीटर लंबा नया ट्रैक बनाया गया था और अब इस ट्रैक का इस्तेमाल थार कोयला परियोजना के लिए किया जाएगा।