अयोध्या विवाद पर अजित डोभाल ने की योगी सरकार की तारीफ

अयोध्या फैसले के बाद परिस्थितियों को नियंत्रण में रखने और कानून-व्यवस्था को ठीक रखने को लेकर राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजित डोभाल ने योगी सरकार की तारीफ की है। इस बाबत उनका 12 दिन पहले का एक पत्र चर्चा का विषय बना हुआ है। अजित डोभाल ने उत्तर प्रदेश सरकार को एक पत्र लिखा है। इसमें उन्होंने कहा है कि फैसले के बाद उत्तर प्रदेश सरकार ने जिस तरीके से पूरे मामले को देखा, वह काबिले तारीफ है। अपनी चिट्ठी में डोभाल ने प्रशासन और पुलिस अधिकारियों की तारीफ की है।

Avatar Written by: December 11, 2019 9:51 am

नई दिल्ली। अयोध्या फैसले के बाद परिस्थितियों को नियंत्रण में रखने और कानून-व्यवस्था को ठीक रखने को लेकर राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजित डोभाल ने योगी सरकार की तारीफ की है। इस बाबत उनका 12 दिन पहले का एक पत्र चर्चा का विषय बना हुआ है। अजित डोभाल ने उत्तर प्रदेश सरकार को एक पत्र लिखा है। इसमें उन्होंने कहा है कि फैसले के बाद उत्तर प्रदेश सरकार ने जिस तरीके से पूरे मामले को देखा, वह काबिले तारीफ है। अपनी चिट्ठी में डोभाल ने प्रशासन और पुलिस अधिकारियों की तारीफ की है।

ajit doval and Yogi Adityanath

अजित डोभाल ने पत्र में लिखा है, “यह काबिले तारीफ है कि अयोध्या मामले पर फैसले के बाद पूरे प्रदेश में कहीं कोई तनाव या हिंसा की घटना नहीं हुई। केन्द्र और उत्तरप्रदेश की सुरक्षा एजेंसियों के बीच अच्छा तालमेल दिखाई दिया। वहीं इस मामले को अच्छी तरह से हैंडल करने के लिए मैं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की भी तारीफ करता हूं। साथ ही उत्तरप्रदेश के वो पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी भी बधाई के पात्र हैं, जिन्होंने दिन-रात अलर्ट रहकर अयोध्या ही नहीं पूरे उत्तरप्रदेश में एक पत्ता भी नहीं खड़कने दिया।”

इसके पहले पुडुचेरी की उपराज्यपाल किरण बेदी भी इस मुद्दे पर उप्र सरकार की सराहना कर चुकी हैं। उन्होंने कहा था कि अयोध्या में सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद उत्तरप्रदेश पुलिस ने बहुत सक्रियता से काम किया है। उन्होंने इस मामले में उत्तरप्रदेश पुलिस को मैग्सेसे पुरस्कार दिए जाने की वकालत की थी।

ayodhya verdict security check

गौरतलब है कि अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के दिन उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था को बनाए रखने के लिए प्रशासन सक्रिय था। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ खुद लगातार सक्रिय थे और पल-पल की अपडेट ले रहे थे। इतना ही नहीं फैसले के दिन मुख्यमंत्री योगी यूपी 112 के कंट्रोल रूम में पहुंच गए। कंट्रोल रूम में पहुंचकर खुद ही प्रदेश के हर जिले के डीएम, एसएसपी और एसपी को कानून-व्यवस्था बनाए रखने की हिदायत देने लगे।

Ayodhya

गौरतलब है कि कई दशकों से चले आ रहे अयोध्या रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद पर 9 नवंबर को सुप्रीम कोर्ट की 5 जजो वाली बेंच ने अपना फैसला सुनाया। सुप्रीम कोर्ट ने विवादित जमीन को रामलला विराजमान का सौंपने का फैसला सुनाया। इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने यह भी फैसला सुनाया कि मुस्लिम पक्ष को अयोध्या में ही पांच एकड़ जमीन मस्जिद के लिए दी जाए।

Support Newsroompost
Support Newsroompost