महाराष्ट्र के राजनीतिक ड्रामे के बाद अजित पवार व फडणवीस पहली बार मिले

अजित पवार ने हालांकि फडणवीस के साथ मुलाकात के संबंध में सोमवार को बारामती में कहा कि राजनीति में कोई भी स्थायी दुश्मन नहीं होता। पवार ने एक मुस्कान के साथ कहा, “उन्हें आमंत्रित किया गया था।

Written by: December 9, 2019 8:58 pm

नई दिल्ली। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के नेता अजित पवार ने नेता प्रतिपक्ष देवेंद्र फडणवीस से मुलाकात की। दोनों नेताओं की पिछले दिनों उनके संयुक्त प्रयास से बनी 80 घंटे की सरकार और इसके गिरने के बाद यह पहली मुलाकात है। दोनों नेता रविवार को निर्दलीय विधायक संजय शिंदे की शादी के लिए आमंत्रित थे। शादी समारोह में दोनों एक ही सोफे पर बैठे नजर आए, जिसके बाद वह मीडिया की नजरों में भी आ गए और उनकी तस्वीरें भी खूब खींची गई।

Devendra Fadanvees Ajit Pawar
अजित पवार ने हालांकि फडणवीस के साथ मुलाकात के संबंध में सोमवार को बारामती में कहा कि राजनीति में कोई भी स्थायी दुश्मन नहीं होता। पवार ने एक मुस्कान के साथ कहा, “उन्हें आमंत्रित किया गया था। मुझे भी संजय शिंदे द्वारा शादी के लिए आमंत्रित किया गया था। हम एक साथ बैठे थे और हमने सिर्फ मौसम पर चर्चा की।”

ajit pawar fadanvis
मंत्री पद दिए जाने के सवाल पर उन्होंने कहा, “यह मुख्यमंत्री (उद्धव ठाकरे) का विशेषाधिकार है, जो इस पर निर्णय लेंगे।” मंत्री या उपमुख्यमंत्री के अपने संभावित पद के सवाल पर पवार ने कहा कि पार्टी कार्यकर्ता उन्हें पद पर चाहते हैं, लेकिन अंतिम निर्णय राकांपा अध्यक्ष शरद पवार और महा विकास अघाड़ी का होगा जिसमें शिवसेना और कांग्रेस भी शामिल हैं। उन्होंने हाल ही में सिंचाई घोटाले में जांचकर्ताओं से प्राप्त ‘क्लीन चिट’ पर बात करने से इनकार कर दिया।


फडणवीस और पवार ने मुख्यमंत्री व उपमुख्यमंत्री के तौर पर अचानक 23 नवंबर की सुबह शपथ ली थी। इसके बाद महाराष्ट्र से लेकर दिल्ली तक राजनीतिक उथल-पुथल मच गई थी। यह सरकार हालांकि 80 घंटों से अधिक नहीं चल सकी और दोनों नेताओं ने त्यागपत्र दे दिया। इसके बाद राज्य में शिवसेना, कांग्रेस और राकांपा ने मिलकर सरकार बनाई।