अजित पवार नहीं लेंगे शपथ, खत्म हुआ उद्धव कैबिनेट का सबसे बड़ा सस्पेंस

महाराष्ट्र में सियासी उथल पुथल की वजह बन चुके अजित पवार ने अपना स्टैंड साफ कर दिया है। वह फिलहाल उद्धव ठाकरे के मंत्रिमंडल का हिस्सा नहीं होने जा रहे हैं।

Written by: November 28, 2019 3:42 pm

नई दिल्ली। महाराष्ट्र में सियासी उथल पुथल की वजह बन चुके अजित पवार ने अपना स्टैंड साफ कर दिया है। वह फिलहाल उद्धव ठाकरे के मंत्रिमंडल का हिस्सा नहीं होने जा रहे हैं। एनसीपी की ओर से दो मंत्री शपथ लेंगे। अजित पवार इसमे शामिल नहीं हैं। हालांकि बहुमत साबित होने के बाद वह वापसी कर सकते हैं।

maharashtra

अजित पवार ने खुद इस बात की पुष्टि कर दी है कि वह आज शपथ लेने नहीं जा रहे हैं। इससे पहले तक अजित पवार को उपमुख्यमंत्री पद देने के सवाल को टाला जा रहा था। आज दोपहर तकरीबन डेढ़ बजे अजित पवार अपने चाचा और एनसीपी प्रमुख शरद पवार से मिलने पहुंचे। इससे पहले अजित का फ़ोन स्विच ऑफ था। इस पर एनसीपी की ओर से बताया गया कि उन्होंने कुछ देर के लिए फोन इसलिए बंद किया था क्योंकि वह लगातार आ रही फोनकॉल को इग्नोर करना चाहते थे।

Ajit Pawar

हालांकि एनसीपी कोटे से उप मुख्यमंत्री के पद पर अभी भी सस्पेंस बना हुआ है। उद्धव कैबिनेट में मुख्यमंत्री पद शिवसेना को, उपमुख्यमंत्री पद एनसीपी को और विधानसभा स्पीकर पद कांग्रेस को मिलना तय हुआ है। हालाँकि उपमुख्यमंत्री कौन होगा, इसपर किसी का नाम तय नहीं हुआ है। गुरुवार शाम को आयोजित शपथ ग्रहण समारोह के बाद भी उपमुख्यमंत्री पद की घोषणा नहीं की जाएगी।

ajit pawar

3 दिसंबर तक उद्धव ठाकरे को बहुमत सिद्ध करना है। इसके बाद ही इस मुद्दे पर फैसला होने की संभावना है। इस बीच शपथ ग्रहण के लिए भव्य समारोह की तैयारियां की जा रही हैं। शिवाजी पार्क मैदान में भारी संख्या में शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी के समर्थको के पहुंचने की संभावना है।