केंद्र सरकार के खिलाफ भूख हड़ताल पर बैठे चंद्रबाबू नायडू, समर्थन देने पहुंचे राहुल-मनमोहन सिंह

तेलुगू देशम पार्टी (टीडीपी) के प्रमुख और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने राज्य को विशेष दर्जा देने और बंटवारे के वक्‍त किए गए वादों को पूरा करने की मांग को लेकर दिल्ली के आंध्र भवन में भूख हड़ताल शुरू कर दी है। इसके बाद मंगलवार को वह राष्‍ट्रपति को अपनी मांगों का एक ज्ञापन सौंपेंगे।  इस बीच पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह समेत कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने धरनास्थल पर पहुंचकर नायडू की मांग का समर्थन किया।

Written by: February 11, 2019 9:25 am

नई दिल्ली। तेलुगू देशम पार्टी (टीडीपी) के प्रमुख और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने राज्य को विशेष दर्जा देने और बंटवारे के वक्‍त किए गए वादों को पूरा करने की मांग को लेकर दिल्ली के आंध्र भवन में भूख हड़ताल शुरू कर दी है। इसके बाद मंगलवार को वह राष्‍ट्रपति को अपनी मांगों का एक ज्ञापन सौंपेंगे। इस बीच पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह समेत कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने धरनास्थल पर पहुंचकर नायडू की मांग का समर्थन किया।

Rahul Gandhi, N Chandrababu Naidu

नायडू के मंच से बोलते हुए राहुल गांधी ने कहा कि आंध्र को विशेष राज्य का दर्जा दिया जाए। उन्होंने यहां भी राफेल का मुद्दा उठाया और कहा कि पीएम मोदी ने आंध्र की जनता का पैसा चुराकर अनिल अंबानी को दे दिया।इस दौरान उन्होंने कहा कि हम सब एकसाथ खड़े हैं और नरेंद्र मोदी व भाजपा को हराएंगे। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि पीएम मोदी जनता से किया गया वादा पूरा करें।

Rahul Gandhi

आंध्र को विशेष दर्जा दिलाने और राज्य पुनर्गठन अधिनियम, 2014 के तहत केंद्र के वादों को पूरा करने की मांग को लेकर वह यहां आंध्रा भवन पर एक दिवसीय भूख हड़ताल कर रहे हैं। उनके साथ पार्टी के तमाम नेता भी मौजूद रहेंगे। भूख हड़ताल से पहले नायडू ने राजघाट जाकर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित की।

गौरतलब है कि टीडीपी राज्य के बंटवारे के बाद आंध्र प्रदेश से किए गए अन्याय का विरोध करते हुए पिछले साल भाजपा नीत एनडीए से बाहर हो गई थी। एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि नायडू सोमवार को सुबह आठ बजे से रात आठ बजे तक आंध्र भवन में भूख हड़ताल पर बैठेंगे। वह 12 फरवरी को राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद को एक ज्ञापन भी सौंपेंगे। मुख्यमंत्री अपने मंत्रियों, पार्टी के विधायकों, एमएलसी और सांसदों के साथ धरना पर हैं। राज्य कर्मचारी संघों, सामाजिक संगठनों और छात्र संगठनों के सदस्य भी इसमें शामिल होंगे।

N Chandrababu Naidu

इससे पहले रविवार को चंद्रबाबू नायडू ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा गुंटूर में एक रैली में उन्हें लोकेश का पिता कह कर संबोधित किए जाने पर पलटवार किया और कहा कि आप (मोदी) ने तो अपनी पत्नी को छोड़ दिया है। टीडीपी प्रमुख ने कहा कि लेकिन वह अपने परिवार से प्यार करते हैं और उसका सम्मान करते हैं। नायडू ने कहा, ‘(पर) आपने तो अपनी पत्नी को छोड़ दिया। क्या परिवार नाम की व्यवस्था के प्रति आपके मन में कोई सम्मान है।’

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री का ना तो कोई परिवार है, और ना ही कोई बेटा। नायडू ने विजयवाड़ा में एक जनसभा में कहा, ‘चूंकि आपने मेरे बेटे का जिक्र किया है, इसलिए मैं आपकी पत्नी का जिक्र कर रहा हूं। लोगों… क्या आप जानते हैं कि नरेंद्र मोदी की एक पत्नी भी हैं? उनका नाम जशोदाबेन है।’