अमरावती में चंद्रबाबू नायडू के आवास ‘प्रजा वेदिका’ पर चला बुलडोजर

यह इमारत नायडू सरकार के कार्यकाल के दौरान करीब 8 करोड़ रुपये की कीमत से बनी थी। इस बिल्डिंग में चंद्रबाबू नायडू अधिकारियों, पार्टी नेताओं के साथ मीटिंग करने के अलावा जनता दरबार भी लगाते थे।

Written by: June 26, 2019 9:29 am

नई दिल्ली। आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी के आदेश के बाद पूर्व सीएम और तेलगु देशम पार्टी (टीडीपी) प्रमुख एन चंद्रबाबू नायडू के अमरावती स्थित आलीशान बंगले ‘प्रजा वेदिका’ को तोड़ने का काम शुरू हो गया है। यह इमारत नायडू सरकार के कार्यकाल के दौरान करीब 8 करोड़ रुपये की कीमत से बनी थी। इस बिल्डिंग में चंद्रबाबू नायडू अधिकारियों, पार्टी नेताओं के साथ मीटिंग करने के अलावा जनता दरबार भी लगाते थे।

Praja Vedike building

आपको बता दें कि मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी ने ‘प्रजा वेदिका’ इमारत को तोड़ने का आदेश दिया था। इसी इमारत में पूर्व मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू रह रहे थे। जगनमोहन के आदेश के अनुसार मंगलवार से इमारत तोड़ने का काम शुरू हो गया।

विदेश यात्रा से लौटने के बाद चंद्रबाबू नायडू ‘प्रजा वेदिका’ के बगल में स्थित अपने आवास में मौजूद हैं। मौके पर टीडीपी के सैकड़ों कार्यकर्ता भी मौजूद हैं।

जगनमोहन रेड्डी के तोड़ने वाले आदेश देने से पहले चंद्रबाबू नायडू ने मुख्यमंत्री को चिट्ठी लिखकर ‘प्रजा वेदिका’ को नेता प्रतिपक्ष का सरकारी आवास घोषित करने की मांग की थी। लेकिन राज्य सरकार ने शनिवार को चंद्रबाबू नायडू के अमरावती स्थित आवास ‘प्रजा वेदिका’ को अपने कब्जे में ले लिया था। टीडीपी ने इसे राज्य सरकार की बदले की कार्रवाई बताया था।